Air India कर्मचारियों को 5 साल तक के लिए बिना Salary छुट्टी पर भेजेगा

 New Delhi: सरकारी विमानन कंपनी एअर इंडिया (Air India) ने परफार्मेंस क्वालिटी, स्वास्थ्य और जरूरत जैसे आधार पर कर्मचारियों की पहचान करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है, जिन्हें 5 साल तक के लिए बिना सैलरी अनिवार्य अवकाश पर भेजा जाएगा. Air India कंपनी द्वारा मंगलवार को जारी एक आधिकारिक आदेश के अनुसार निदेशक मंडल ने एअर इंडिया के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक राजीव बंसल (Rajiv Bansal) को कर्मचारियों की उपयुक्तता, दक्षता(Efficiency) , क्षमता, प्रदर्शन की गुणवत्ता(performance quality), कर्मचारी का स्वास्थ्य(employee health), पहले ड्यूटी के वक्त अनुपलब्धता, आदि के आधार पर 6 महीने या 2 साल के लिए बिना वेतन अनिवार्य अवकाश पर भेजने के लिए अधिकृत किया है और यह अवधि 5 साल तक बढ़ाई जा सकती है।

14 जुलाई को एअर इंडिया द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि मुख्यालय में विभागों के प्रमुखों के साथ-साथ क्षेत्रीय कार्यालयों के निदेशक उपरोक्त कसौटियों के आधार पर प्रत्येक कर्मचारी का मूल्यांकन करेंगे और बिना सैलरी अनिवार्य अवकाश के विकल्प के मामलों की पहचान करेंगे। आदेश में कहा गया, ”ऐसे कर्मचारियों के नामों को अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक की आवश्यक मंजूरी के लिए मुख्यालय में महाप्रबंधक को अग्रसारित किया जाना चाहिए। इस संबंध में पूछे जाने पर एअर इंडिया के प्रवक्ता ने कहा, ”हम इस मामले पर टिप्पणी नहीं करना चाहते हैं।उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस (Corona Virus) की महामारी की कारन भारत और अन्य देशों में यात्रा पर लगे पाबंदी की कारन विमानन कंपनियों पर काफी ज्यादा असर हुआ है। भारत की सभी विमानन कंपनियों ने सैलरी में कटौती, बिना सैलरी छुट्टी पर भेजने, कर्मचारियों को निकालने सहित अन्य उपाय खर्चों में कमी के लिए किए हैं।

उदाहरण के लिए गो एयर ने अप्रैल से अपने ज्यादातर कर्मचारियों को बिना सैलरी अनिवार्य अवकाश पर भेज दिया है। भारत में Covid-19 की महामारी की कारन लागू रोक के करीब दो महीने बाद 25 मई को घरेलू विमान सेवा शुरू की गई। हालांकि, कोरोना महामारी से पहले के मुकाबले केवल 45 % विमानों को ही उड़ान भरने की इजाजत दी गई थी। 25 मई से घरेलू विमान सेवा शुरू होने के बाद से कुल सीट क्षमता के मुकाबले केवल 50 – 60 % यात्री ही सफर कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *