आंध्र प्रदेश के सरकारी अस्पताल की बड़ी लापरवाही, लाश 2 दिन से जमीन पर पड़ा रहा, कुत्तों ने नोंच कर खाया

ओंगोला: आंध्र प्रदेश के एक सरकारी हॉस्पिटल की बड़ी लापरवाही सामने आई है. आंध्र प्रदेश के ओंगोला के सरकारी अस्पताल में एक आदमी का लाश जमीन पर पड़ा हुआ है और कुत्ते उसके चेहरे को चबा रहे हैं. ये घटना राजीव गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (RIMS) की है, जहां आदमी का लाश बेघरों और गरीबों द्वारा आश्रय के रूप में उपयोग किए जाने वाले शेल्टर में पड़ा था. आंध्र प्रदेश के पूर्व सीएम और विपक्ष के नेता चंद्रबाबू नायडू (Chandrababu Naidu) ने इस मामले का एक वीडियो ट्विटर पर पोस्ट करते हुए कहा ‘मानवीय गरिमा का उल्लंघन’ करार दिया है. पूर्व सीएम चंद्रबाबू नायडू ने अपने ट्वीट में लिखा, “यह दिल तोड़ देने वाला नजारा है! ओंगोल जीजीएच में 2 दिनों तक एक मरीज का लाश पड़ा रहा. कुत्तों ने उसके जिस्म को नोचकर खा लिया. यह मानवीय गरिमा का उल्लंघन है और आंध्र प्रदेश सरकार की नाकामयाबी है. मेरे पास इसकी निंदा करने के लिए अल्फ़ाज़ नहीं है.


अस्पताल के सुरक्षा गार्ड ने कुत्तों को लाश के कान को चबाते हुए देखा. इसके बाद सुरक्षाकर्मियों ने कुत्तों को वहां भगाया. मृत कांता राव (Kanta Rao) के परिजनों ने हॉस्पिटल प्रशासन पर लापरवाही का इलज़ाम लगाया है. परिजनों के विरोध के बाद मामला की जांच शुरू कर दी गई है. शुरुआती जांच में पता चला है कि मरीज को हॉस्पिटल में एडमिट ही नहीं किया गया था. RIMS के अधीक्षक डॉ श्रीरामुलु (Superintendent Dr. Sriramulu) का कहना है कि कांता राव को 5 Aug को RIMS लाया गया था. लेकिन उन्हें कभी भी ‘इन-पेशेंट(Inpatient)’ के रूप में हॉस्पिटल में एडमिट नहीं किया गया था. अभी यह साफ नहीं है कि हॉस्पिटल ने उन्हें एडमिट क्यों नहीं किया और बिना किसी एलाज के कम से कम 5 दिनों तक शेल्टर (Shelter) में सोने के लिए मजबूर क्यों किया गया. इस बारे में जांच शुरू की गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *