बिहार के DGP गुप्तेश्वर पांडे ने लिया वीआरएस, लड़ेंगे विधानसभा चुनाव

PATNA : विधानसभा चुनाव के ठीक पहले बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने वीआरएस के लिया है. वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी गुप्तेश्वर पांडे ने वीआरएस के लिए सरकार से आग्रह किया था, जिसे सरकार ने स्वीकार कर लिया है. डीजीपी के वीआरएस के प्रस्ताव पर मुहर लग गई है. बिहार सरकार की ओर से इसकी अधिसूचना जारी कर दी गई है.

बता दें 1987 बैच के आईपीएस अधिकारी गुप्तेश्वर पांडेय का कार्यकाल पांच महीने बाद समाप्त होने वाला हैं। 31 जनवरी 2019 को उन्हें बिहार का डीजीपी बनाया गया था। राज्य के पुलिस महानिदेशक के रूप में गुप्तेश्वर पांडेय का कार्यकाल 28 फरवरी 2021 को पूरा होने वाला है। सूत्रों से जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक गुप्तेश्वर पांडेय ने चुनावी मैदान में उतरने की पूरी तैयारी कर ली है। बस चुनाव की तारीख ऐलान होने का इंतजार है।

1961 गुप्तेश्वर पांडेय का जन्म भी बक्सर जिले के एक छोटे से गांव गेरुआ गांव में ही हुआ था. 12वीं कक्षा में प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण करने के बाद पाण्डेय ने पटना विश्वविद्यालय में नामांकन कराया. इन्होंने पटना यूनिवर्सिटी से अपनी पढाई पूरी की थी. 1986 में आइआरएस बने. तब वह अपनी इस नौकरी से संतुष्ट नहीं थे, उन्होंने दोबारा यूपीएससी की परीक्षा दी और आइपीएस बने.

गुप्तेश्वर पांडेय 1987 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं. पिछले साल 31 जनवरी 2019 को उन्हें बिहार का डीजीपी बनाया गया था. फिलहाल उनका कार्यकाल पूरा होने में करीब 5 महीने का समय बाकी था. डीजीपी के रूप में गुप्तेश्वर पांडेय का कार्यकाल 28 फरवरी 2021 को पूरा होने वाला था. 31 साल की सेवा में गुप्तेश्वर पाण्डेय एएसपी, एसपी, एसएसपी, डीआइजी, आइजी, एडीजी के रूप में बिहार के 26 जिलों में काम कर चुके हैं. अपने कार्यकाल के दौरान गुपतेश्वर पांडेय बिहार के कई बड़े जिलों में पुलिस कप्तान की भूमिका में रहें. इन्हें मुजफ्फरपुर रेंज के आईजी के रूप में भी बड़ी जिम्मेदारी दी गई थी.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *