बिहार चुनाव: एंकर ने पूछा सीधा सवाल तो फँस गए शाहनवाज़ हुसैन, मोबाइल देख कर भी बार बार फंसते गए शाहनवाज़ हुसैन

बिहार चुनाव: एंकर ने पूछा सीधा सवाल तो फँस गए शाहनवाज़ हुसैन, मोबाइल देख कर भी बार बार फंसते गए शाहनवाज़ हुसैन

एक समाचार चैनल की प्राइम टाइम डिबेट शो में भाजपा प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन की बोलती बंद हो गयी। एंकर ने शाहनवाज हुसैन से पूछा कि बिहार में पिछले 15 सालों में कितने स्कूल कॉलेज और विश्वविद्यालय खुले है? इसपर भाजपा प्रवक्ता फंस गए और वो स्कूल कॉलेजों की संख्या की बजाय शिक्षा का बजट बताने लगे। जब एंकर ने उन्हें इस पर टोका तो उन्होंने अपना मोबाइल निकाल कर फिर आंकड़े पढ़ने लगे। कमाल की बात है कि वो उसके बाद भी उन्होनें आंकड़े गलत ही बताए। डिबेट शो का विषय ‘कौन जीत रहा है बिहार?’ था।

प्रोग्राम के दौरान प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन बार-बार लालू यादव के शासन के 15 सालों पर कटाक्ष कर रहे थे। लालू के शासन को जंगलराज बता रहे थे। जब एंकर ने उसने पूछा कि, आप हर बात का जवाब लालू जी के शासन से क्यों दे रहे हैं। आपके मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तो सुशासन का दावा करते हैं, और वो पिछले 15 सालों से मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बिहार में विराजमान हैं। आप उनके आँकड़ें बताइये न। एंकर ने पूछा, बताइये पिछले 15 सालों में कितनी फैक्ट्रीज लगाई गई बिहार में ?

इस पर शाहनवाज हुसैन 2005-06 का पीडब्ल्यूडी का बजट बताने लगे। वो कहते हैं कि साल 2005-06 में पीडब्ल्यूडी का कुल बजट 520 करोड़ था जो अब 6 हज़ार करोड़ होगया है। जब एंकर ने टोकते हुए कहा कि आप सिर्फ ये बताइये की कितनी फैक्ट्रीज लगीं है? अगर बजट पर बात करेंगे और उसका भी ब्याज बगैरा जोड़ने लगूँगा तो आप फिर फंस जाएंगे। इस पर शाहनवाज हुसैन एंकर पर कटाक्ष करते हुए कहते हैं कि ,- ‘आप तो इकोनॉमिस्ट भी हो जाते हैं ,आप को जो बात पसन्द है क्या वही बात करेंगे’।

एंकर आगे कहता है कि हाँ, मैं इकोनॉमिस्ट हूँ, ठीक-ठाक जगह से पढ़ी है मैंने इकॉनमी। इस पर शाहनवाज हुसैन बात पलटते हुए कहने लगते हैं कि आप भी पश्चिमी यूपी के आदमी हो ,हम भी गांव देहात के हैं। इसपर एंकर कहता है कि क्या ये गुनाह हो गया मेरा इकॉनमी पढ़ना? आगे शाहनवाज हुसैन अपना दुख सुनाते हुए कहते हैं कि,’आप मेरी तरह बोरा बिछा के नहीं पढ़े हैं न, पेड़ के नीचे लालटेन में। आप बिजली में पढ़े है, तो थोड़ा हमसे भी, गांव-देहात के आदमी से सुनिए। बीजेपी प्रवक्ता आगे बोलते हैं कि मेरा गुनाह था की मुझे हुकूमत लालू जी की मिली। जब हम दसवीं में थे तो लालू की हुकूमत मिली।

शिक्षा के विषय पर एंकर ,प्रवक्ता से पूछते हैं कि अच्छा तो बिहार में कितने स्कूल खुले,कितने यूनिवर्सिटी खुली? यही बात दीजिए। इसपर बीजेपी प्रवक्ता ने कहा कि, जी मैं ये भी बताता हूँ। एंकर ने कहा – बजट मत बताना। लेकिन शाहनवाज बजट के आंकड़े ही बताने लगे। वो कहते हैं कि शिक्षा का वर्तमान में कुल बजट 2 लाख17 हज़ार करोड़ है। इसपर एंकर तिलमिलाते हुए पूछता है कि ,कितना बजट है शिक्षा का 2 लाख 17 हज़ार करोड़? शाहनवाज हुसैन गलत आँकड़ें मुझे मत परोसा कीजिये ,ये जनता को ही आप चुनावी रैली में बता दिया कीजिये। देश का कुल बजट 30 लाख करोड़ का है और आप कह रहे हो कि बिहार की शिक्षा का बजट अकेले ही 2 लाख करोड़ का है। इस पर शाहनवाज हुसैन अटक गए, उनसे कुछ बोलते नहीं बना।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *