Bihar: स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय का PMCH दौरा, नर्सों ने किया विरोध, कहा- हिम्मत है तो 1 घंटे के लिए PPE किट पहन कर दिखा दें

Patna: कोरोना वायरस महामारी ने पूरा बिहार को अपने लपेट ले लिया है. वहीं रोजाना सैकड़ों नए कोरोना मरीज मिल रहे हैं. ऐसे में बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय (Mangal Panday) बिहार के सबसे बड़े अस्पताल PMCH का दौरा करने पहुंचे. इस बीच स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय को हॉस्पिटल की बदहाल इंतेज़ाम के लिए नर्सों के विरोध का सामना करना पड़ा. दरअसल, कोरोना संकट में भारी बदनामी के बाद स्वास्थ्य मंत्री बीते 2 दिनों से लगातार अस्पतालों के दौरे पर हैं. पिछले दिनों उन्होंने NMCH का दौरा किया, जहां उन्हें नर्सों का गुस्सा झेलना पड़ा था. वहीं अगले दिन जब स्वास्थ्य मंत्री बिहार के सबसे बड़े हॉस्पिटल PMCH पहुंचे तो वहां भी उन्हें नर्सों का विरोध का सामना करना पड़ा. बता दें कि स्वास्थ्य मंत्री के PMCH आने की सूचना केवल अस्पताल के वरीय पदाधिकारी को थी.

ऐसे में जब स्वास्थ्य मंत्री जायजा लेने पहुंचे, तो सभी दूसरे स्टाफ ने एकजुट होकर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया. प्रदर्शनकारियों में अधिकतर अस्पताल की नर्स शरीक थीं, जिन्होंने स्वास्थ्य मंत्री की उपस्थिति में कुव्यवस्था की भांडा फोड़ दी साथ ही जमकर नारेबाजी हुई. नर्सों ने हॉस्पिटल में इंकलाब जिंदाबाद के नारे लगाए. नर्सों का कहना था कि उन्हें कोरोना वार्ड (Corona Ward) में ड्यूटी करनी होती है. लेकिन उन्हें सुरक्षा के दृष्टिकोण से कोई साधन नहीं दिया गया है. वो मजबूरन डायपर लगाकर काम कर रहे हैं क्योंकि टॉयलेट की कोई इंतेज़ाम नहीं है. स्वास्थ्य मंत्री का विरोध करते हुए नर्सों ने कहा कि “मंत्री जी ने हमलोगों का नेचुरल लीव (Natural leave) भी समाप्त कर दिया.” इस बीच नर्सों ने स्वास्थ्य मंत्री को चुनौती देते हुए कहा कि “वे एक घंटे के लिए PPI किट पहनकर बिना AC-Fan के रहकर दिखा दें.

अस्पताल के नर्सों ने कहा कि “स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय की प्रोत्साहन पैसा हमें नहीं चाहिए. देना ही है तो हर दिन के 10 हजार रुपये दें, नहीं तो छुट्टी दें. हमलोग अब घर रहकर आराम करना चाहते हैं. नर्सों ने अपनी सुरक्षा पर कहा कि “डॉक्टर तो मरीज को देखकर तुरंत चले जाते हैं, हमलोग ही डर के साए में जी रहे हैं. कोरोना वॉरियर कहकर ताली बजवाते हैं, PMCH के ऊपर तो फूल भी नहीं बरसाया गया. हमलोग की मांग पूरी कीजिये नहीं तो हमलोग को छुट्टी दीजिए. क्या नर्स की बली चढ़ा कर कोरोना महामारी खत्म कीजियेगा? इधर, स्वास्थ्य मंत्री ने हंगामे के डोरां ही अस्पताल का जायजा लिया. वहीं कोरोना वार्ड में जाकर मरीजों का हालचाल जाना. हॉस्पिटल का जायजा लेने के बाद स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने अधिकारियों के साथ बैठक की और कार्रवाई का आश्वासन दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *