Bihar: कोरोना नेगेटिव होने के बाद भी PMCH के डॉक्टर की पत्नी को हॉस्पिटल में नहीं किया गया भर्ती, लगाते रहे चक्कर, एम्स के गेट पर तोड़ा दम

Patna: कोरोना संकट के बीच बाकी मरीजों के इलाज की व्यवस्था राम भरोसे है. इसी के चलते बिहार के पटना में PMCH के डॉक्टर की पत्नी की इलाज के अभाव में मौत हो गई. दरअसल, बिहार (Bihar) के पटना में PMCH के डॉक्टर रंजीत सिन्हा ने अपनी पत्नी के इलाज के लिए कई अस्पतालों में चक्कर लगाए लेकिन किसी ने उनकी पत्नी का इलाज नहीं किया. इस वजह से डॉ. रंजीत सिन्हा की पत्नी की मौत हो गई.

PMCH के डॉक्टर रंजीत सिन्हा (Dr Ranjeet Sinha) की पत्नी की तबीयत खराब हो गई थी. पत्नी शुगर और बीपी की मरीज थीं. उन्हें कुर्जी हॉस्पिटल में एडमिट कराने के बाद बेहतर इलाज के लिए दूसरे अस्पताल ले जाने के लिए डॉक्टर्स ने कहा, जहां पर हृदय रोग विशेषज्ञ की सेवा मिल सके. वहां से पाटलिपुत्र के अस्पताल में कोरोना टेस्ट (Corona Test ) कराया और टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आई तो OPD में भर्ती किया गया. हालांकि हालत थोड़ी बिगड़ने लगी तो डॉक्टर ने ICU में भर्ती कराने की बात कही.

इसके बाद परेशान डॉक्टर रंजीत अपनी पत्नी बेली रोड किनारे स्थित एक बड़े अस्पताल में ले गए लेकिन एक घंटे तक पूछताछ के बाद भी किसी ने उनकी पत्नी को भर्ती नहीं किया. इसके बाद वह उन्हें लेकर IGIC पहुंचे लेकिन वहां ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर ने उन्हें अच्छे सेंटर में ले जाने की सलाह दी लेकिन भर्ती नहीं किया. अंत में वह एम्स पहुंचे लेकिन वहां भी उन्हें आधे घंटे रोक कर रखा गया. इसी बीच उनकी पत्नी की गेट पर मौत हो गई. अब डॉक्टर रंजीन ने IMA को पत्र लिखकर प्राइवेट अस्पताल पर उचित कार्रवाई करने की मांग की है. इसके बाद परेशान डॉक्टर रंजीत अपनी पत्नी को लेकर बेली रोड़ के किनारे स्थिति एक बड़े हॉस्पिटल ले गए, लेकिन एक घंटे पूछताछ के बाद वहां भर्ती करने से मना कर दिया गया. आईजीआईसी आए लेकिन वहां ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर ने उन्हें अच्छे सेंटर में ले जाने की सलाह दे दी लेकिन भर्ती नहीं किया. अंत में वह एम्स पहुंचे. वहां भी आंधे घंटे तक रोककर रखा गया और इसी बीच पत्नी की गेट पर ही मौत हो गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *