Bihar Weather : बिहार में नदियों का जलस्तर बढ़ने से बढ़ा बाढ़ का खतरा , 100 से अधिक गांवों में फैला पानी

मौसम विज्ञान केंद्र ने राज्य के नौ जिले सुपौल, सीतामढ़ी (Sitamarhi), अररिया ( Araria), किशनगंज ( Kishanganj ), मधुबनी (Madhubani), शिवहर (Shivhar), रोहतास (Rohtas), कैमूर (Kaimur ) व औरंगाबाद (Aurangabad) में कई जगहों पर मंगलवार को भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है, इस दौरान बर्फ गिरने की भी आशंका जताई जा रही है।

उत्तर बिहार में बाढ़ की स्थिति संगीन बनती जा रही है। सीतामढ़ी (Sitamarhi) जिले के नये इलाकों में पानी घुसने लगा है और बाढ़ के आने के कारण 2 लोगों की मौत डूबने से हो गयी है। सोनबरसा, सुरसंड, भिट्ठा मोड़ और रुन्नीसैदपुर में पानी तेजी से फैल रहा है। बागमती नदी खतरे के प्रभाव से ऊपर है, लखनदेई नदी में बाढ़ से सीतामढ़ी शहर पर भी प्रभाव बढऩे लगा है।

उत्तर बिहार में कई जगहों पर खाई टूटने से आयी बाढ़ और बाढ़ के आते ही तबाही मच गयी। कई दर्जन तो गांव पानी से घिर गये है। बगहा में लक्ष्मीपुर रमपुरवा पंचायत के झंडू टोला स्थित एसएसबी कैंप में चार फुट पानी भर गया है। रामनगर प्रखंड के गुदगुदी पंचायत में कटाई जारी है। सुगौली में तिलावे नदी का तटबंध टूट गया है । जान नदी का पानी रक्सौल-सीतामढ़ी रेलखंड के गुरहेनवा स्टेशन से पूरब 139/1 kM पर दबाव बनाये हुए है। गुड्स ट्रेन का परिचालन कॉसन पर किया जा रहा है।

सीतामढ़ी(Sitamarhi) के सुरसंड प्रखंड के कड़रवाना कोरियाही व कड़रवाना गोट में रातो मैं नदी का पानी प्रवेश कर गया है। दोनों गांवों से बथनाहा चौक मैं जानेवाली एकमात्र सड़क पर बना डायसर्वन ध्वस्त हो गया है। चोरौत प्रखंड में डुमरबाना-परिगामा पथ पर कई जगहों के साथ चोरौत-भिट्टामोड़NH -104 पर डुमरबाना डायवर्सन पर दो से तीन फुट पानी बह रहा है।

मधुबनी के झंझारपुर में कमला रेल सह सड़क पुल को छू रही है,फुलपरास में बिहुल नदी के पूर्वी तटबंध के टूट जाने बाद अंधरामठ जाने वाली सड़क पर पानी चढ़ गया है, इधर, दरभंगा में बाढ़ की स्थिति भयानक होती जा रही है,कुशेश्वरस्थान पूर्वी प्रखंड में कमला बलान में पानी बढ़ रहा है।

पूर्वी बिहार के पांच जिलों के सौ या सौ से अधिक गांवों में घुसा बाढ़ का पानी, सहरसा के भी नवहट्टा, महिषी व सलखुआ की पांच पंचायतें भी बाढ़ के पानी से घिर चुकी है, सुपौल, किसनपुर, सरायगढ़, निर्मली, मरौना व बसंतपुर प्रखंड के दर्जनों गांवों में बाढ़ का पानी आ चूका है,मधेपुरा में आलमनगर, पुरैनी, चौसा प्रखंड के लोग सहमे हुए हैं. शिव मंदिर टोला मुरौत और छतौना बासा के तीन दर्जन घरों में भी पानी घुस गया है, किशनगंज के ठाकुरगंज, दिघलबैंक, टेढ़ागाछ के कई इलाकों में बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *