31 अक्टूबर को दिखेगा ‘ब्लू मून’, जानिए इस अनूठे नज़ारे के बारे में

दुनिया भर के अंतरिक्ष वैज्ञानिकों को 31 अक्‍टूबर का बेसब्री से इंतज़ार है। अगर आप खगोल शास्‍त्र और अंतरिक्ष से जुड़ी बातों में दिलचस्‍पी रखते हैं तो खुश हो जाइये। इस साल वैसे भी अभी तक एस्‍टेरॉयड, धूमकेतु जैसी घटनाएं हुईं हैं और इस कड़ी में यह नई घटना है। ब्‍लू मून का यह खूबसूरत दृश्‍य 31 अक्‍टूबर को दिखाई देगा।

हालांकि, ऐसा दुर्लभ ही होता है कि एक ही महीने में दो बार पूर्णिमा (पूर्ण चंद्र) होती है और ऐसे में दूसरे पूर्ण चंद्र को ‘ब्लू मून’ कहा जाता है. मुंबई के नेहरू तारामंडल के निदेशक अरविंद प्रांजपेय ने कहा कि एक अक्टूबर को पूर्णिमा थी और अब दूसरी पूर्णिमा 31 अक्टूबर को होगी.

उन्होंने कहा कि इसमें कुछ गणितीय गणना भी शामिल है. निदेशक ने कहा, ‘चंद्र मास की अवधि 29.531 दिनों अथवा 29 दिन, 12 घंटे, 44 मिनट और 38 सेकेंड की होती है, इसलिए एक ही महीने में दो बार पूर्णिमा होने के लिए पहली पूर्णिमा उस महीने की पहली या दूसरी तारीख को होनी चाहिए.’

दिल्ली के नेहरू तारामंडल की निदेशक एन रत्नाश्री ने कहा, ’30 दिन के महीने के दौरान ब्लू मून होना कोई आम बात नहीं है. ‘ प्रांजपेय ने कहा कि 30 दिन वाले महीने में पिछली बार 30 जून, 2007 को ‘ब्लू मून’ रहा था और अगली बार यह 30 सितंबर 2050 को होगा.

पिछली बार 30 जून, 2007 को ‘ब्लू मून’ रहा था और अगली बार यह 30 सितंबर 2050 को होगा। उन्होंने कहा कि वर्ष 2018 में दो बार ऐसा अवसर आया जब ‘ब्लू मून’ की घटना हुई। उस दौरान पहला ‘ब्लू मून’ 31 जनवरी जबकि दूसरा 31 मार्च को हुआ। इसके बाद अगला ‘ब्लू मून’ 31 अगस्त 2023 को होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *