Bacterial Outbreak in China: चीन में फैली एक और महामारी, बैक्टीरिया संक्रमण ने मचाई तबाही

Bacterial Outbreak in China: एक तरफ दुनिया कोरोना वायरस के कहर से जूझ रही है जो चीन के वुहान से दुनियाभर में फैला था, अब दूसरी ओर चीन के उत्तर पश्चिमी इलाके में स्थित गैन्सू प्रांत के लानजोउ शहर में सैंकड़ों लोग एक नए संक्रमण से पीड़ित पाए गए हैं। ये संक्रमण ब्रूसेलोसिस बैक्टीरिया से फैल रहा है और बड़ी संख्या में लोगों को पीड़ित कर रहा है। चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने गैन्सू प्रांत के सेंट फॉर डिजीज कंट्रोल विभाग के हवाले से बताया कि इस बैक्टीरिया से करीब 3,245 लोग संक्रमित हैं।

बीते सोमवार को 21 हजार लोगों को टेस्ट किया गया, जिसमें शुरुआती तौर पर 4,646 लोगों को पॉजिटिव बताया गया। हालांकि ये संख्या उम्मीद से ज्यादा हो सकती है और फिलहाल इसके फैलने को लेकर प्रशासन और आम लोग चिंतित हैं। अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक, 11 सरकारी संस्थानों को मुफ्त टेस्ट और इलाज के लिए अस्पताल का दर्जा दिया गया है।

1980 के दशक में चीन में ब्रूसीलोसिस एक सामान्य बीमारी थी, हालांकि बाद में स्थिति गंभीर हो गई। अमेरिका के सेंटर्स फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) के मुताबिक, यह बीमारी एक से दूसरे इंसान में नहीं फैलती, लेकिन संक्रमित भोजन से ब्रूसीलोसिस फैल सकता है।

ब्रूसीलोसिस क्या है, चीन में कैसे फैला और क्या सावधानी बरतें, इन सवाल-जवाब से समझिए….

1. क्या है ब्रूसीलोसिस?
यह बैक्टीरिया से होने वाली बीमारी है। ये बैक्टीरिया पशुओं, सुअर, बकरी और कुत्तों को संक्रमित करता है। इन संक्रमित पशुओं के संपर्क में आने पर इंसान भी बीमार हो जाते हैं। इनका मांस खाने या इनका प्रदूषित किया पानी पीने पर इंसान में संक्रमण फैलता है। बैक्टीरिया संक्रमित क्षेत्र की हवा में एयरोसॉल के रूप में भी मौजूद होता है, इस दौरान सांस लेने पर भी इंसान संक्रमित हो सकता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन कहता है, इस बीमारी का सबसे ज्यादा खतरा तब रहता है, जब इंसान जानवर का कच्चा दूध इस्तेमाल करता है या दूध की बनी चीज खाता है।

2. कौन से लक्षण दिखने पर अलर्ट हो जाएं?
बुखार, पसीना आना, सिरदर्द, मांसपेशियों में दर्द, बेचैनी और भूख न लगना जैसे लक्षण दिखने पर अलर्ट हो जाएं। कुछ लक्षण लंबे समय तक दिख सकते हैं। इसके अलावा बार-बार बुखार, आर्थराइटिस जैसे लक्षण, अंडाणुओं और लिवर में सूजन भी दिख सकती है। मरीजों में अधिक थकान बनी रहती है।

3. चीन में यह बीमारी कब और कैसे फैली
लेंझॉउ शहर के स्वास्थ्य आयोग की वेबसाइट की मुताबिक, यहां के वेटरनरी रिसर्च इंस्टीट्यूट के पास मौजूद लेंझॉउ फार्मास्युटिकल फैक्ट्री में एक घटना के बाद यह बैक्टीरिया फैला। यहां ब्रूसीलोसिस की वैक्सीन तैयार की जा रही थी। 24 जुलाई से 20 अगस्त 2019 तक सफाई का काम चला। इस दौरान इंस्टीट्यूट में एक्सपायरी डेट के डिसइंफेक्टेंट इस्तेमाल हुआ, जिससे बैक्टीरिया पूरी तरह खत्म नहीं हुआ। यहां से निकली वेस्ट गैस में एयरोसोल के रूप में बैक्टीरिया फैला और लोग संक्रमित हुए।

मामला सामने आने पर 7 दिसम्बर 2019 को फैक्ट्री में वैक्सीन उत्पादन का काम पूरी तरह से बंद कर दिया गया। 8 लोगों को सजा भी हुई। 13 जनवरी 2020 को लेंझॉउ फार्मास्युटिकल फैक्ट्री का वैक्सीन लाइसेंस निरस्त कर दिया गया।

4. कैसे बचाव करें?
मामला अगर देश में आता है तो पशुओं से दूरी बनाएं। जरूरी सावधानी के साथ ही उनके पास जाएं। मांस खाने से बचें। बाहर का खाना न ही खाएं तो बेहतर है। आसपास पशुओं का तबेला है तो घर को सैनिटाइज करना बेहतर विकल्प है। दूध और पानी उबालकर ही इस्तेमाल करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *