सीएम योगी ने तोड़ी हाथरस कांड पर चुप्पी, दोषियों का नाश सुनिश्चित, यह संकल्प और वचन है

लखनऊ: हाथरस में चार दरिंदों के हैवानियत की शिकार होकर दम तोड़ने वाली 19 वर्षीय युवती के लिए पूरे उत्तर प्रदेश के लोगों में आक्रोश है. विपक्षी पार्टियां कानून व्यवस्था को लेकर योगी सरकार पर निशाना साध रही हैं. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी सीएम योगी से इस्तीफा मांग रही हैं, तो बसपा सुप्रीमो मायवती कह रही हैं कि ​वह गोरखपुर में जाकर मठ चलाएं. ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी के सांसद हाथरस जाने की कोशिश में यूपी पुलिस से भिड़ रहे हैं. पुलिस और प्रशासन के रवैए पर सवाल खड़े हो रहे हैं.

इन सबके बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पहली बार अपनी चुप्पी तोड़ी है. उन्होंने ट्वीट किया है, ”उत्तर प्रदेश में माताओं-बहनों के सम्मान-स्वाभिमान को क्षति पहुंचाने का विचार मात्र रखने वालों का समूल नाश सुनिश्चित है. इन्हें ऐसा दंड मिलेगा जो भविष्य में उदाहरण प्रस्तुत करेगा. आपकी उत्तर प्रदेश सरकार प्रत्येक माता-बहन की सुरक्षा व विकास हेतु संकल्पबद्ध है. यह हमारा संकल्प है-वचन है.”

बता दें कि कि 14 सितंबर को उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले में गांव चंदपा की दलित युवती अपनी मां के साथ खेत पर गई थी और आरोप के मुताबिक सासनी निवासी एक युवक ने उस पर जानलेवा हमला किया था। युवती ने सीओ सादाबाद को दिए बयान में तीन और युवक के नाम बताए थे, जिसके बाद पुलिस ने केस में गैंगरेप की धारा बढ़ा दी थी। इस मामले में पुलिस चारों आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है।

युवती के साथ हुई हैवानियत के बाद वह कई दिनों तक बेहोश रही। तबीयत बिगड़ने पर उसे दिल्ली के एक अस्पताल में लाया गया। यहां पर इलाज के दौरान ही युवती की मंगलवार को मौत हो गई। पुलिस की मौजूदगी में युवती का शव लेकर परिजन हाथरस अपने गांव पहुंचे।

आरोप है कि गांव में प्रशासन ने परिजनों को सूचित किए बगैर ही पुलिस की पहरेदारी में पीड़िता का अंतिम संस्कार कर दिया। इसको लेकर पुलिस और प्रशासन सवालों के घेरे में है। हाथरस जिला प्रशासन ने गांव को छावनी में बदल दिया है।

इसी दौरान शुक्रवार को तृणमूल कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने राज्यसभा सदस्य डेरेक ओ ब्रायन के साथ गांव में जाने का प्रयास किया। उनको रोकने के दौरान उनके साथ धक्का-मुक्की भी हुई। जिसमें वह जमीन पर गिर गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *