Corona Pandemic: तबलीगी जमात में शामिल विदेशियों के खिलाफ बॉम्बे High Court ने FIR खारिज कर कहा- ‘बलि का बकरा’ बनाया गया

Mumbai: बॉम्बे हाई कोर्ट की औरंगाबाद बेंच ने दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में तबलीगी जमात (Tablighi Jamaat) मामले में देश और विदेश के जमातियों के खिलाफ दर्ज FIR को रद्द कर दिया है. कोर्ट ने कहा कि इस मामले में तबलीगी जमात को ‘बलि का बकरा’ बनाया गया. कोर्ट ने साथ ही मीडिया को फटकार लगाते हुए कहा कि इन लोगों को ही संक्रमण का जिम्मेदार बताने का प्रॉपेगेंडा चलाया गया. कोर्ट का कहना है कि तब्लीगी जमात को ‘बलि का बकरा’ बनाया गया.

इन तब्लीगी जमातियों पर दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज (Nizamuddin Markaz) के एक कार्यक्रम में शरीक होने के आरोप में FIR दर्ज की गई थी. इनपर आईपीसी, महामारी रोग अधिनियम, महाराष्ट्र पुलिस अधिनियम, आपदा प्रबंधन अधिनियम और विदेशी नागरिक अगिनियम के तहत केस दर्ज किया गया था. कोर्ट ने केस पर सुनवाई करते हुए कहा, ‘दिल्ली के मरकज में आए देशी और विदेशी जमातियों लोगों के खिलाफ प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में बड़ा प्रॉपेगेंडा चलाया गया. देश में फैले कोरोना वायरस संक्रमण का जिम्मेदार इन जमातियों को बनाने की प्रयास की गई. कोर्ट ने ये भी कहा कि देश ताजे आंकड़े दर्शाते हैं कि इन लोगों के खिलाफ एक्शन नहीं लिया जाना चाहिए था. विदेशियों के खिलाफ गलत एक्शन लिया गया. उसकी क्षतिपूर्ति के लिए पॉजिटिव कदम उठाए जाने की जरूरत है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *