Covid-19: कोरोना का कहर, मोहर्रम जूलूस और सार्वजनिक गणेश मूर्ति स्थापना पर रोक, उल्लंघन करने पर लगेगा भारी जुर्माना

New Delhi: कोरोना वायरस महामारी के बढ़ते संकमण के मद्देनजर भारत सरकार से जारी गाइडलाइन का अनुपालन करते हुए इस बार दिल्ली सरकार ने मोहर्रम त्योहार के दौरान ताजिया निकालने और गणेश चतुर्थी पर्व पर भी भगवान गणेश की सार्वजनिक मूर्ति स्थापना या पंडाल बनाने पर पाबंदी लगा दिया गया है। दिल्ली सरकार के आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की तरफ से कोविड-19 के संक्रमण के खतरे के मद्देनजर लोगों से सामाजिक दूरी का पालन करते हुए इन त्योहारों को अपने घर पर ही मनाने की आग्रह की गई है। साथ ही, डीडीएमए ने सभी संबंधित विभागों को केंद्र सरकार से जारी दिशा-निर्देशों का सख्ती से अनुपालन कराने का निर्देश दिया गया है।

दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने दिशा-निर्देश में कहा है कि डीडीएमए दिल्ली में कोरोना महामारी के प्रसार के खतरे से वाकिफ है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने पहले से ही कोरोना महामारी घोषित किया हुआ है। लिहाजा, दिल्ली सरकार कोरोना महामारी के प्रसार से रोकने के लिए सभी प्रभावी उपाय कर रही है। कोरोना को फैलने से रोकने के मद्देनजर डीडीएमए सभी संबंधित विभागों के अधिकारियों को वक्त-वक्त पर विभिन्न दिशा-निर्देश जारी करती रही है।


डीडीएमए ने आगामी त्योहारों के बीच आयोजित होने वाले समारोहों और कार्यक्रमों के मद्देनजर जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण, जिला मजिस्ट्रेट को भी कोरोना महामारी को देखते हुए जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए गए थे, ताकि समारोहों या कार्यक्रमों में ज्यादा भीड़ जमा न हो सके औरकोरोना को फैलने से रोका जा सके। डीडीएमए ने कहा, “इस संबंध में केंद्रीय गृह मंत्रालय ने भी 28 जुलाई, 2020 को एक डीओ लेटर के जरिए दिशा-निर्देश जारी किया है। इसके तहत दिल्ली सरकार की ओर से बड़े धार्मिक समारोहों और अन्य धार्मिक कार्यक्रमों में भीड़ को रोकने के लिए जरूरी कोशिश किए जा रहे हैं, लेकिन दिशा-निर्देशों का उल्लंघन होता देखा जा रहा है। लिहाजा, मोदी सरकार से जारी गाइडलाइन का संबंधित विभाग के अधिकारियों को सख्ती से पालन कराना सुनिश्चित करने का निर्देश दिया जाता है। उन्होंने कहा कि आने वाले त्योहारों के मद्देनजर विस्तार से गाइडलाइन (Guideline) जारी की गई है, जिसका सभी विभागों द्वारा अनुपालन कराया जाना अनिवार्य है। राज्य कार्यकारिणी समिति, डीडीएमए ने आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा-22 के तहत सभी संबंधित अधिकारियों और फील्ड अधिकारियों को दिशा-निर्देश जारी किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *