वाराणसी: मृत परिवार को नहीं मिली एम्बुलेंस, स्ट्रेचर पर रखकर पैदल शव ले गए घर, देखें वीडियो 

वाराणसी में कोरोना के मामलों में प्रतिदिन इजाफा हो रहा है। कोरोना वायरस ने पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं की पोल खोल कर रख दी है। वाराणसी में एक महिला की मौत के बाद सरकारी हॉस्पिटल से एम्बुलेंस नहीं मिली फिर क्या था परिवार वालों ने शव को स्ट्रेचर पर ही रख कर घर को चल दिए। रास्ते भर लोग देखते रहे। इस बीच पुलिस वाले भी बगल से गुजरे लेकिन किसी ने भी आगे आकर मदद नहीं की। अस्पताल प्रशासन का कहना है कि वह एंबुलेंस की इंतजाम कर रहा था लेकिन परिवारवाले पहले ही स्ट्रेचर पर रखकर शव को लेकर चले गए।

वाराणसी के छोटी पियरी के रहने वाली एक महिला को सर्दी जुकाम और बुखार के कारण बीते शुक्रवार रात करीब 9.40 बजे अस्पताल लाया गया। जहां डॉक्टर ने उन्हें वार्ड नंबर चार में भर्ती किया था। इस बीच महिला की तबियत अचानक बिगड़ गयी और मौत हो गयी। परिवार वालों का कहना है की वे लोग घंटों एम्बुलेंस का इंतजार करते रहे लेकिन एम्बुलेंस नहीं आया। फिर क्या था परिवारवाले शव को स्ट्रेचर से ही लेकर घर चल दिए। इस मामले का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इस घटना को लेकर मंडलीय अस्पताल के SIC प्रसुन्न कुमार ने कहा की महिला की देहांत के बाद परिजन को एम्बुलेंस की इंतजाम करने के लिए कहा गया था। एम्बुलेंस आने में 15-20 मिनट का वक़्त लगता है। इस बीच परिजनों ने स्ट्रेचर पर शव को रखकर चले गए। जैसे ही स्ट्रेचर नहीं मिलने की जानकारी हुई तो कोतवाली थाने में एक मेमो दिया गया।

इस मामले को लेकर दलित कांग्रेस उत्तर प्रदेश ने पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं को आड़े हाथ लेते हुए कहा की महिला की मौत हो गयी लेकिन एम्बुलेंस नहीं दी गयी। दलित कांग्रेस उत्तर प्रदेश ने ट्वीट करते हुए कहा कि,”प्रधानमंत्री मोदी जी के संसदीय क्षेत्र में स्वास्थ्य सेवाओं का हाल देखिए। मंडलीय अस्पताल में एक वृद्ध की मौत हो गई। एंबुलेंस नहीं दी गई। बिलखता परिवार स्ट्रेचर पर ही शव ले जा रहा है। पास से पुलिसवाले ये सब देखते हुए वहां से गुजर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *