जेल से रिहा हुए डॉ. कफील, कहा- ‘झूठे केस थोपे, 5 दिन बिना खाना-पानी के रखा’, STF का धन्यवाद जो मुझे मारा नहीं’

बीते कई महीनों से उत्तर प्रदेश की मथुरा जेल में बंद गोरखपुर के डॉक्टर कफील खान को रिहा कर दिया गया है। कल इलाहाबाद हाईकोर्ट ने डॉ कफील खान के पक्ष में फैसला सुनाते हुए उन्हें जल्द से जल्द रिहा करने के आदेश जारी किए थे। हाई कोर्ट के जज ने साफ तौर पर यह कहा था कि डॉ कफील खान को रासुका के तहत जेल में रखना गैरकानूनी है।

कल देर रात डॉ कफील खान को जेल से रिहा किया गया है। जेल से रिहा होने के बाद डॉक्टर कफील खान ने उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ योगी सरकार के साथ जेल प्रशासन पर भी हमला बोला।

डॉ कफील खान ने कहा कि मैं जुडिशरी का बहुत-बहुत शुक्रगुजार हूं। जिन्होंने मेरी रिहाई का आर्डर दिया है। इसके साथ ही उन्होंने देश के लोगों का भी धन्यवाद किया। जिन्होंने इस संघर्ष में उनका साथ दिया है।

इस दौरान डॉ कफील खान योगी सरकार पर भी खूब बरसे। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार ने मुझ पर एक झूठा और बेसलेस केस बनाया। बिना बात के मुझे 8 महीने तक मथुरा जेल में कैद रखा गया। जेल में मुझे 5 दिन तक बिना खाना-पीना दिए गए प्रताड़ित किया गया।

इसके साथ ही डॉ कफील खान ने उत्तर प्रदेश के एसटीएफ को भी शुक्रिया कहा। उन्होंने तंजीय अंदाज में शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि मैं यूपी एसटीएफ को भी धन्यवाद कहूंगा, जिन्होंने मुंबई से मथुरा लाते समय मुझे एनकाउंटर में मारा नहीं है।

बताया जा रहा है कि जब जेल से रिहा होने के बाद डॉक्टर कफील खान वहां से निकले तो मीडिया ने उन्हें घेर लिया। इस दौरान उनसे कई सवाल पूछे गए। लेकिन डॉ कफील खान ने किसी भी राजनीतिक मुद्दे को ना उठाते हुए देश में बढ़ रहे कोरोना संक्रमित मरीजों की मामलों पर चिंता जाहिर की।

‘संघर्ष में साथ देने वाले सभी का धन्यवाद’
रिहा होने के बाद डॉ कफील ने मथुरा जेल प्रशासन और योगी सरकार पर हमला बोला। उन्होंने राज्य सरकार पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। डॉक्टर कफील ने कहा, ‘मैं जुडिशरी का बहुत शुक्रगुजार हूं, जिन्होंने इतना अच्छा ऑर्डर दिया है। सभी 138 करोड़ देशवासियों का धन्यवाद और उन लोगों का धन्यवाद जिन्होंने संघर्ष में मेरा साथ दिया।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *