बन गई कोरोना की वैक्सीन! 130 करोड़ देशवासियों तक पहुंचाने की ये है योजना

New Delhi : कोरोना वैक्सीन को लेकर दुनियाभर में रिसर्च चल रही है. दुनियाभर की कम से कम 33 बेहतरीन संस्थाएं इस महामारी की वैक्सीन ढूंढ में लगे हैं. लेकिन उम्मीद की किरण आई है इंग्लैंड की ऑक्सफोर्ड़ यूनिवर्सिटी से..

बन गई कोरोना की वैक्सीन!
कोरोना की वैक्सीन को लेकर ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के दावे से आपको रूबरू करवाते हैं. उसने कोरोना वैक्सीन के पहले मानव परीक्षण के सफल होने का दावा किया है.

23 अप्रैल से 21 मई के बीच ट्रायल हुआ, 1077 लोगों पर परीक्षण किया गया. सभी लोगों में 28 दिन के अंदर एंटीबॉडी बनी. ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी ने ट्वीट कर जानकारी दी. AZD1222 नाम की वैक्सीन को अच्छा रिस्पॉन्स देखा गया.

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी का दावा
ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी ने कोरोना वैक्सीन के मानव परीक्षण के पहले चरण के सफल होने का दावा किया है. दावे में कहा गया है कि 23 अप्रैल से 21 मई के बीच ट्रायल हुआ. इनका कहना है कि जिन 1077 लोगों पर ये परीक्षण किए गए उनसभी में 28 दिन के अंदर एंटीबॉडी बन गई थी. आपको बता दें कि ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की तरफ से एक ट्वीट किया गया है, जिसमें ये दावा किया गया है कि AZD1222 नाम की वैक्सीन का इस्तेमाल करने से काफी बेहतर रिस्पॉन्स मिला है.
अब, 130 करोड़ आबादी वाले देश में, हर व्यक्ति को वैक्सीन लेना आसान नहीं है। जिसके लिए सरकार ने देश के हर कोने में कोरोना वैक्सीन पहुंचाने की तैयारी कर ली है। ताकि बाद में किसी प्रकार की कोई दिक्कत न हो।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, भारतीय अधिकारियों ने वैक्सीन को रसद की आपूर्ति पर चर्चा शुरू कर दी है। कई मंत्रालयों और विज्ञान और प्रौद्योगिकी के अधिकारियों ने इन चर्चाओं में भाग लिया। उम्मीद है कि अगले साल की शुरुआत से पहले कुछ वैक्सीन आएंगे। इसके साथ, सरकारी सूत्रों के हवाले से, उन्होंने दावा किया है कि वैक्सीन के वितरण को लेकर अब तक कम से कम दो बैठकें हो चुकी हैं। इसे देखते हुए आने वाले हफ्तों में और चर्चा होगी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक , एक सरकारी अधिकारी ने जानकारी देते हुए कहा कि फिलहाल वैक्सीन पर आंतरिक परामर्श शुरू हो गया है, जिससे हम पूरी तरह से तैयार हैं। बात यह है कि यह सारी कवायद आखिरी वक्त में किसी परेशानी से बचने के लिए है। उत्तर पूर्वी भारत जैसे सुदूर क्षेत्रों में टीके के वितरण पर ध्यान देने के बाद बैठक में क्या चर्चा हो रही है। उन्होंने कहा कि सरकार ऐसे क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर कोल्ड स्टोरेज सुविधा बनाने की योजना तैयार कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *