असम : बंद होंगे सरकारी मदरसे, शिक्षा मंत्री बोले-सरकार के पैसों से सिर्फ कुरान नहीं पढ़ाई जा सकती

*असम सरकार की ओर से 614 मदरसों का संचालन किया जा रहा है. इसके अलावा करीब 900 प्राइवेट मदरसे संचालित हो रहे हैं. राज्य में 100 सरकारी संस्कृत मदरसे हैं.

असम सरकार सभी राज्य संचालित मदरसों को बंद करने जा रही है. राज्य के शिक्षा मंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा है कि इस बारे में नवंबर में नॉटिफिकेशन जारी किया जाएगा. शिक्षा मंत्री का कहना है कि जनता के रुपयों से धार्मिक शिक्षा देने का प्रावधान नहीं है, इसलिए सरकारी मदरसे बंद किए जाएंगे. करीब 100 संस्कृत स्कूल भी इस दौरान बंद किए जाएंगे.

शिक्षा मंत्री ने कहा कि सरकारी पैसों पर सिर्फ कुरान को नहीं पढ़ाया जा सकता, अगर ऐसा होता है तो बाइबिल और गीता को भी पढ़ाना चाहिए, ऐसे में सरकार ने इस प्रक्रिया को बंद करने का फैसला किया है। राज्य मदरसा शिक्षा बोर्ड (SMEB) के अनुसार राज्य में 600 से ज्यादा ऐसे मदरसे हैं जो पूरी तरह से सरकार द्वारा ही चलाए जाते हैं। SMEB की वेबसाइट के मुताबिक इनमें से 400 उच्च मदरसे हैं, 112 जूनियर उच्च मदरसे हैं और शेष 102 वरिष्ठ मदरसे हैं। कुल मान्यता प्राप्त मदरसों में से 57 लड़कियों के लिए हैं, 3 लड़कों के लिए हैं और 554 सह-शैक्षिक हैं। 17 मदरसे उर्दू माध्यम से चल रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *