Hathras Gang rape Case :एक तरफ दलित बेटी की चिता जल रही थी, दूसरी ओर पुलिस खड़ी ठहाके लगा रही थी

Hathras Gang rape Case: उत्तर प्रदेश के हाथरस में 19 वर्षीय दलित युवती से गैंगरेप की घटना ने लोगों को झकझोर कर रख दिया है। 15 दिनों से मौत से जंग लड़ रही पीड़िता की मौत के बाद देशभर में गुस्सा है। दिल्ली, उत्तर प्रदेश सहित कई राज्यों में पीड़िता को इंसाफ के लिए प्रदर्शन हुए। उधर, आरोप है कि पुलिस ने जबरन पीड़िता का अंतिम संस्कार भी कर दिया। इस बीच एक वीडियो सामने आया है, जिसमें पुलिस का अमानवीय चेहरा सामने आया है। यह वीडियो आधी रात में उस वक्त का है, जब पीड़िता की चिता जल रही थी।

एक मिडिया रिपोर्ट के अनुसार जिस समय हाथरस की बेटी की चिता जल रही थी उसी समय की और से देखने को मिला है आप को बता दे अंतिम संस्कार के दौरान पुलिस के कई अधिकारी साइड में खड़े बातें कर रहे थे। सबसे बड़ी बात तो यह है कि उस दौरान खड़े पुलिसकर्मी आपस में ठहाके लगा रहे थे। इस तस्वीरों को देखने के बाद दिखाता है कि यूपी पुलिस इस घटना में कितनी असंवेदनशाल रही। एक और पीड़िता का परिवार रो बिलख रहा था दूसरी और पुलिस इस तरह खड़े होकर गप्पे लड़ा रही थी।

इस पुरे मामले में पुलिस के रवये को देख कर किसी को भी कुछ समझ नहीं आ रहा है। परोजनो का आरोप है की शुरू में पुलिस ने इस छेड़छाड़ का मामला बताते हुए कोई करवाई नहीं की। मिडिया के सामने खबर आने के बाद पुलिस ने रेप की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था ,

पुलिस पर जबरन अंतिम संस्कार कराने का आरोप

पुलिस ने मंगलवार की देर रात 2:40 बजे बिना किसी रीति रिवाज के पीड़िता के शव का अंतिम संस्कार करवा दिया। इस दौरान पीड़िता की मां पुलिस के आगे बिलखती रही और गिड़गिड़ाती रही कि वो बेटी को अपनी देहरी से हल्दी लगाकार विदा करेगी। घरवाले गुहार लगाते रहे, वो भीख मांगते रहे कि 15 मिनट के लिए बेटी के आखिरी दर्शन कर लेने दिए जाएं, लेकिन परिवार वालों की एक न सुनी गई और जबरन पीड़िता के शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया। मुखाग्नि भी पुलिस वालों ने ही दी। पीड़िता के भाई ने आरोप लगाया कि जब उन लोगों ने बेटी का संस्कार करने से इनकार कर दिया तो पुलिस गुस्से में हो गई। पुलिस ने उन लोगों को धमकी दी, उनके घरवालों के साथ धक्का-मुक्की भी की गई। कुछ लोगों को घर में बंद कर दिया गया तो कुछ डरकर अपने घरों में बंद हो गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *