पुलिस कस्टडी में दलित युवक को बेल्ट से पीटा, सिर मुंडन कर मूंछें काटी, दो पुलिसकर्मी निलंबित

मामला आंध्र प्रदेश के पूर्वी गोदावरी जिले से जहां एक सब इंस्पेक्टर और एक कांस्टेबल को निलंबित कर दिया गया है। इन दोनों को निलंबित करने का मुख्य आरोप ये है की इन्होने ने पुलिस कस्टडी में एक दलित युवक को बेल्ट से पीटा और साथ ही उसे अपमानित किया। ये घटना आंध्र प्रदेश के पूर्वी गोदावरी जिले के सीतानगरम पुलिस स्टेशन का है। युवक का नाम वारा प्रसाद बताया जा रहा है जो वेदुल्लापल्ली गांव का निवासी है। पुलिस के इस बर्बरता के बाद वारा प्रसाद को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

पीड़ित वारा प्रसाद ने कहा की उनके क्षेत्र में किसी की मृत्यु हो गयी थी। वारा प्रसाद और तीन अन्य लोगों ने उसी रास्ते से गुजरने वाले रेत के ट्रकों की आने जाने पर रोक लगा दिया जिस रास्ते पर मृत्यु हुए इंसान का घर पड़ता हो। ट्रक चालकों से कहा की जब तक अंतिम संस्कार के लिए शव को वहां से नहीं ले जाया जाता आप लोग थोड़ा इंतजार कर लीजिए।

पीड़ित वारा प्रसाद ने कहा कि इसके बाद इस मामले को लेकर YSR कांग्रेस के एक लोकल नेता और दो पुलिसकर्मी घर पर आए। इस मामले कि जांच को लेकर वो हमे पुलिस स्टेशन ले गये। पुलिस कस्टडी में हमे जांच के नाम पर सब इंस्पेक्टर ने बड़ी बर्बरता से पीटा और लातों से भी मारा। वो यहीं नहीं रुके थोड़ी देर में एक नाई को बुलवाया और हमारा सर मुंडवा दिया और मूंछें भी कटवा दी। तेलगु देशम पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने घटना की निंदा की है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में जंगल राज आ गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *