Independence Day 2020 : प्रधानमंत्री मोदी ने लाल किले के प्राचीर से फहराया तिरंगा, जानें मोदी की प्रमुख बातें

कोरोना महामारी के बीच भारत आज अपना 74वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को लाल किले पर 74वें स्वतंत्रता दिवस पर तिरंगा फहराया और देशवासियों को संबोधित किया। उन्होंने स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा, गुलामी का कोई कालखंड ऐसा नहीं था जब हिंदुस्तान में किसी कोने में आजादी के लिए प्रयास नहीं हुआ हो, प्राण-अर्पण नहीं हुआ हो। पीएम मोदी अपने संबोधन में उन्होंने देश को हर तरीके से आत्मनिर्भर बनाने पर अधिक जोर दिया है। देश में फैली कोरोना और इससे लड़ने के लिए हमारे कोरोना योद्धाओं जैसे, पुलिसकर्मी,डॉक्टर्स, नर्से, पैरामेडिकल स्टाफ, एंबुलेंस कर्मी, सफाई कर्मचारी, सेवाकर्मी प्रतिदिन अपने काम को अंजाम दे रहे हैं।

हर साल स्वतंत्रता दिवस के मौके पर स्कूली बच्चे मौजूद रहते थे लेकिन इस बार कोरोना को लेकर मौजूदगी नहीं दिखने पर पीएम मोदी ने दुःख जताया। अपने भासन में तमाम उपलब्धियों को भी गिनाया जो बीते कुछ सालों में सरकार ने की हैं।

क्या कुछ कहा मोदी ने अपने भाषण में

सबसे पहले मोदी ने कोरोना योद्धाओं जैसे, पुलिसकर्मी,डॉक्टर्स, नर्से, पैरामेडिकल स्टाफ, एंबुलेंस कर्मी, सफाई कर्मचारी, सेवाकर्मी प्रतिदिन अपने जान जोखिम में डाल कर अपने काम को अंजाम दे रहे हैं।

आखिर कब तक हमारे ही देश से गया कच्चा माल, finished product बनकर भारत में लौटता रहेगा।
हमें संकल्प लेना होगा कि हम आयात को कम करेंगे और लोकल के लिए वोकल होना होगा।
आत्मनिर्भर भारत का मतलब सिर्फ आयात कम करना ही नहीं, हमारी क्षमता, हमारी Creativity हमारी skills को बढ़ाना भी है।
अगले साल हम अपनी आजादी के 75वें वर्ष में प्रवेश कर जाएंगे। एक बहुत बड़ा त्यौहार हमारे सामने है।
सदियों पुराने विवाद पर शांतिपूर्ण समाधान का प्रयास जारी साथ ही चुनौती देने वालों को उसी की भाषा में जवाब दिया।

एक वक़्त था, जब हमारी कृषि व्यवस्था बहुत पिछड़ी हुई थी। तब सबसे बड़ी चिंता का विषय ये थी कि देशवासियों का पेट कैसे भरे। आज हम भारत के एलावा दुनिया के कई देशों का पेट भर सकते हैं।

देश की सुरक्षा के नई सड़कें तैयार की गई और आत्मनिर्भर बनने के लिए हमने 100 से ज्यादा सैन्य उपकरणों के आयात पर रोक लगाई।
अयोध्या में भगवान राम के मंदिर का भूमि पूजन हुआ और अब राम मंदिर निर्माण कार्य भी शुरू हुआ।
UNSC में भारत को जबरदस्त समर्थन मिला और हमने पड़ोसी देशों के साथ संबंध मजबूत करने पर जोर भी दिया।

कौन सोच सकता था कि कभी देश में गरीबों के जनधन खातों में हजारों-लाखों करोड़ रुपए सीधे ट्रांसफर हो पाएंगे और किसानों की भलाई के लिए APMC एक्ट में इतने बड़े बदलाव हो जाएंगे।

सिर्फ कुछ महीना पहले तक N-95 मास्क, PPE किट, वेंटिलेटर ये सब हम देश के बाहर से मंगाते थे। आज ये सभी चीज भारत, न सिर्फ अपनी जरूरतें खुद पूरी कर रहा है, बल्कि दूसरे देशों की मदद के लिए भी आगे आया है।

हमारे वैज्ञानिक कोरोना की 3 वैक्सीन बनाने पर काम कर रहे हैं और कम से कम समय में देशवासियों तक कोरोना वैक्सीन पहुंचानी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *