ITS कॉलेज के प्रोफेसर ने बनाई सबसे सस्ती चार्ज से चलने वाली कार, जानिये विशेषताएं

उत्तर प्रदेश : ITS कॉलेज के प्रोफेसर महिप सिंह ने एक सपना देखा था कि कम आय वाले लोग भी अपनी कार से चल सकें। उन्होंने लॉकडाउन में मिले समय का सही इस्तेमाल किया। महिप बताते हैं कि करीब तीन महीने की कड़ी मेहनत के बाद लखटकिया कार को तैयार किया गया।

कार को बनाने में 80,000 की खर्च आई है। एक बार चार्ज होने पर कार से 100 किलोमीटर का सफर तय कर किया जा सकता है। कार को घर में इस्तेमाल होने वाले सामान्य बिजली बोर्ड से चार्ज कर सकते हैं। कार का आकर्षक लुक सभी को अपनी ओर आकर्षित कर रहा है।

कार की विशेषताएं

छोटे परिवार की जरूरत को ध्यान में रखते हुए कार को चार सीटर बनाया गया है।
कार में लिथियम फेरस बैटरी लगाई गई है, जो दो घंटे में पूरी तरह चार्ज हो जाती है।
कार की अधिकतम गति 40 किलोमीटर प्रतिघंटा है। डिजाइन, कलर, पहिए, लाइट, मीटर आदि से कार को आकर्षक लुक दिया गया है।
एक बार चार्ज होने पर कार से सौ किलोमीटर का सफर तय कर किया जा सकता है।
कार की मोटर क्षमता 1500 वाट है।
जमीन से कार की ऊंचाई छह इंच व वजन 120 किलो है।
कार को स्वचालित बनाया गया है।
एक बार चार्ज होने पर कार से सौ किलोमीटर का सफर तय कर किया जा सकता है।
मात्र छह सेकेंड में कार 40 किलोमीटर की गति पकड़ सकती है।
कार में डिजिटल मीटर व डिस्क ब्रेक भी है।

बता दें कि फिलहाल टाटा नैनो टाटा मोटर्स के द्वारा बनाई गई सबसे नवीन कार है। यह दुनिया की सबसे सस्ती कार है जिसका दाम एक लाख रुपये कहा गया था, लेकिन 2 लाख रुपये से ज्यादा है। इसे मीडिया ने लखटकिया कार नाम से ज़्यादातर संबोधित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *