झारखंड के मंत्री सत्यानंद भोगता पहुंचे पैतृक गांव, खेतों में बहाया पसीना,धान का रोपा भी किया

चतरा : झारखंड के श्रम नियोजन एवं प्रशिक्षण मंत्री सत्यानंद भोगता (Satyanand Bhogta) सोमवार को अपना पैतृक गांव सदर पहुंचे और लोगों से मिल कर उनकी मुश्किलों को जाना। इसके बाद मंत्री सत्यानंद भोगता खेतों में उतर गए और जमकर पसीना बहाया, हल चलाया और धान का रोपा भी किया। मंत्री भोगता करीब दो घंटो तक हल चलाया और रोपा किया।

इस विषय में मंत्री सत्यानंद भोगता ने कहा कि गरीब किसान के बेटा हूं और गरीबी को जानता हूं। खेती करना हमारा धर्म है। किसान अन्नदाता होते हैं। उन्होंने आगे कहा कि हेमंत सरकार (Hemant Goverment) किसानों, मजदूरों एवं युवाओं के हितों की रक्षा के लिए बेझिझक है। मंत्री सत्यानंद भोगता ने कहा कि हमारे पूर्वजों ने विरासत में खेत दिया है, खेती करना जरूरी है। किसान खेती करेगा, तब ही खाने के लिए अनाज मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *