कंगना को केंद्र से मिली सुरक्षा: सुरक्षा में 2 कमांडो समेत 11 सिक्यॉरिटी ऑफिसर्स, शान से होगी मुंबई में एंट्री

कंगना ने कहा- अब किसी देशभक्त की आवाज कोई फासीवादी नहीं कुचल सकेगा
शिवसेना नेता संजय राउत ने कंगना को अपशब्द कहे थे, उसके बाद लगातार ट्रोल हो रहे

कंगना रनौत की सुरक्षा बढ़ाई गई है और उन्हें गृह मंत्रालय से Y सिक्यॉरिटी की सुरक्षा प्रदान की गई है। दरअसल कंगना ने इधर सोशल मीडिया पर मुंबई पुलिस को लेकर बेबाकी दिखाई और उधर उन्हें महानगरी में एंट्री को लेकर धमकियां मिलने लगीं। कंगना ने अपने बयान में कहा था कि सुशांत की मौत के बाद उन्हें मुंबई अनसेफ लगने लगा है, जिसके बाद शिवसेना से उनकी जुबानी जंग खूब बढ़ गई। खैर, अब वह 9 सितम्बर को मुंबई पहुंचेंगी और उनके साथ होगी 11 सिक्यॉरिटी ऑफिसर्स की पूरी फौज।

आइए बताते हैं वाय सिक्यॉरिटी किन्हें मिलती है और इसके तहत किस तरह की सुरक्षा लोगों को दी जाती है। यहां बताना चाहेंगे कि Y सिक्यॉरिटी के अलावा देश में अलग-अलग स्तर पर अन्य वीआईपी लोगों और उनके लिए खतरे को देखते हुए X, Z और Z और Z+ लेवल की सुरक्षा व्यवस्था के इंतजाम हैं।

X कैटिगरी
X कैटिगरी की सुरक्षा में केवल दो आर्म्ड पुलिस ऑफिसर शामिल होते हैं। इस सुरक्षा व्यवस्था के तहत कोई कमांडो या अन्य सिक्यॉरिटी ऑफिसर्स शामिल नहीं होते।

Y कैटिगरी
Y कैटिगरी की सुरक्षा व्यवस्था में देश के वे वीआईपी लोग आते हैं, जिनको इसके तहत 11 सुरक्षाकर्मी की सुरक्षा मुहैया कराई जाती है। Y सिक्यॉरिटी की सुरक्षा के तहत 1 या 2 कमांडो और 2 पीएसओ शामिल होते हैं। साफ है कि अब कंगना मुंबई में जहां कहीं भी आएंगी-जाएंगी उनके आगे-पीछे 11 सिक्यॉरिटी ऑफिसर्स हर वक्त मौजूद रहेंगे।

Z कैटिगरी
Z कैटिगरी की सुरक्षा व्यस्था की बात करें तो इसमे कुल 22 सिक्यॉरिटी ऑफिसर्स शामिल होते हैं। इसमें 4 से 5 NSG कमांडो और पुलिस ऑफिसर्स भी होते हैं।

Z+ कैटिगरी
Z+ सुरक्षा उन वीआईपी लोगों को दी जाती है जिन्हें सबसे अधिक खतरा हो। इसमें NSG कमांडो समेत कुल 36 जवान सुरक्षा में लगे होते हैं।

कंगना ने खुद को मिली इस सुरक्षा को लेकर खुशी जताते हुए गृह मंत्री अमित शाह को टैग करते हुए लिखा, ‘ये प्रमाण है कि अब किसी देशभक्त आवाज़ को कोई फ़ासीवादी नहीं कुचल सकेगा,मैं अमित शाह जी की आभारी हूं। वो चाहते तो हालातों के चलते मुझे कुछ दिन बाद मुंबई जाने की सलाह देते मगर उन्होंने भारत की एक बेटी के वचनों का मान रखा, हमारे स्वाभिमान और आत्मसम्मान की लाज रखी, जय हिंद।’

बता दें कि मुंबई पुलिस को लेकर बयान के बाद से कंगना को लेकर शिवसेना आक्रोश में है। शिवसेना ने कंगना को लेकर अपने तेवर काफी तीखे कर लिए हैं और लगातार उनके खिलाफ बयानबाजी कर रहे हैं। कंगना के खिलाफ शिवसेना और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना की बयानबाजी और तीखे तेवर को देखते हुए कंगना के पिता ने बेटी के लिए हिमाचल प्रदेश सरकार से पुलिस सुरक्षा की मांग की थी, जिसके बाद उन्हें Y कैटिगरी की सुरक्षा मुहैया की गई है।

कंगना को अपशब्द कहने के बाद से राउत ट्रोल हो रहे
महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा था कि कंगना मुंबई में असुरक्षित महसूस करती हैं तो उन्हें यहां नहीं लौटना चाहिए। कंगना ने 9 सितंबर को मुंबई आने की बात कही थी और चुनौती दी कि रोक सको तो रोक ले। जवाब में राउत ने कहा था, “महाराष्ट्र में सारी पार्टी हैं। हम सब मिलकर तय करेंगे।”

एक न्यूज चैनल ने जब राउत से पूछा कि क्या कोई कानूनी कदम उठाएंगे, तो उन्होंने कहा, “क्या होता है कानून? उस लड़की ने जो किया, वह कानून का सम्मान है क्या? आप क्या उस हरामखोर लड़की की वकालत कर रहे हो?” इस बयान के बाद से संजय राउत ट्विटर पर लगातार ट्रोल हो रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *