कुवैत ने कोटा बिल को दी मंजूरी , 8 लाख भारतीयों को छोड़ना पर सकता है देश !

कुवैत की नेशनल असेंबली की कानूनी और विधायी समिति ने अप्रवासी कोटा बिल को मंजूरी दे दी है। इस विधेयक यानि बिल को अब विचार के लिए संबंधित समिति को भेज दिया जाएगा। इस बिल में ये कहा गया है की कुवैत में भारतीयों की आबादी राष्ट्रीय जनसंख्या का 15 प्रतिशत से अधिक नहीं होना चाहिए। इस बिल के अनुसार लगभग 8 लाख भारतीय प्रवासी को कुवैत छोड़ कर वापस भारत आना पड़ सकता है।

आपको बतादें कुवैत में भारतीय प्रवासी सबसे बड़ा प्रवासी समुदाय है , जिसकी कुल आबादी करीब 15 लाख है। ऐसे में 8 लाख भारतियों को कुवैत छोड़ना इन सब के लिए बहुत बड़ा झटका लग सकता और इसका सीधा असर इनके रोजी रोटी में पड़ सकता है। मई ( May ) में, यह घोषणा की गई थी कि कुवैत की नगर पालिका जल्द ही सभी प्रवासी मजदूरों को बर्खास्त कर देगी और उन्हें कुवैत से बदल देगी।

जिस तरह से कुवैत में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं इस बढ़ते संक्रमण के साथ ही वहां प्रवासियों के खिलाफ बयानबाजी शुरू हो चुकी थी। स्थानीय और अधिकारीयों ने कुवैत से प्रवासियोंकी संख्या कम करने की बात कही। रिपोर्ट में कहा गया है कि बीते माह जून को कुवैत के प्रधानमंत्री, शेख सबा अल खालिद अल सबाह ने अप्रवासियों की आबादी 70 से घटाकर 30 % तक करने का प्रस्ताव रखा।

पिछले साल 2019 में सांसद सफा अल हैशम ने भी कुवैत से अनुरोध किया कि वह अपने जनसांख्यिकीय असंतुलन ’को दूर करने के लिए आगामी 5 सालों में देश से लगभग 2 MIllion प्रवासियों को निष्कासित करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *