लेबनानः 2,750 टन अमोनियम नाइट्रेट का इस्तेमाल करके किया भीषण धमाका, 10 किमी तक दहले हिस्से

लेबनान की राजधानी बेरुत में बीते मंगलवार शाम को बहुत बड़ा बम विस्फोट हुआ। धमाका इतना भयानक था के पुरे शहर को दहला कर रख दिया। धमाके की असर इतना भयानक था के इससे करीब 10 किलोमीटर तक तबाही मची। इस विस्फोट से करीब 75 लोगों की मारे जाने की खबर है वहीं 4 हज़ार के करीब लोग घायल भी हुए हैं। इस धमाके की गूंज अंतरराष्ट्रीय स्तर तक जा पहुंची है। इस मामले की जांच की जा रही है हालांकि इसकी शुरुवाती जांच में ये सामने आया है की इन विस्फोटकों को पटाखे बनाने के इस्तेमाल के लिए रखा गया था।

अधिकारीयों का कहना है कि पिछले 6 साल से एक बंद गोदाम में रखे विस्फोटकों की वजह से यह घटना हुई। अबतक इस धमाके की सही वजह सामने आयी नहीं है। इस बीच लेबनान के राष्ट्रपति मिशेल आउन ने ट्वीट करते हुए लिखा की,”यह बिल्कुल अस्वीकार्य है कि 2750 टन अमोनियम शहर के बीच असुरक्षित ढंग से रखा गया था। इस मामले में अब जांच बिठा दी गई है। लेबनान की सुप्रीम डिफेंस काउंसिल (रक्षा विभाग) ने कहा है कि घटना के पीछे जो भी जिम्मेदार होंगे, उन्हें लंबी सजा भुगतनी होगी।

आगे इस घटना को लेकर राष्ट्रपति मिशेल ने 3 दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित किया है। इसके साथ ही उन्होंने इमरजेंसी फंड्स के तौर पर 100 अरब लीरा (करीब 495 करोड़ रुपए) रिलीज करने की बात कही। धमाके की आवाज इतनी जोरदार थी की 240 KM दूर साइप्रस के द्वीप तक सुनी गईं।

लेबनान के प्रधानमंत्री हसन दिएब के मुताबिक इस विस्फोट का वजह 2750 टन अमोनियम नाइट्रेट था। विस्फोट इतना शक्तिशाली और भयानक था कि इससे आसपास की इमारतों में आग लग गई। कारें पलट गईं और लोगों के घरों और खिड़की-दरवाजों के शीशे तक टूट गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *