बिहार: चौथी बार MLA बने महबूब आलम के पास अब तक पक्का मकान तक नहीं

PATNA : बिहार विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने के बाद कटिहार जिले की बलरामपुर विधानसभा सीट से CPI-ML के प्रत्याशी महबूब आलम ने जीत हासिल की है। इस चुनाव में महबूब आलम ने अपने प्रतिद्वंदी विकासशील इंसान पार्टी के प्रत्याशी वीरेंद्र कुमार ओझा को 53,597 वोटों से हराया है। 4 बार विधायक रह चुके महबूब आलम के बारे में बताया जाता है कि उनके पास अब तक अपना पक्का मकान तक नहीं है।

महबूब आलम अपने इलाके में काफी चर्चित शख्सियत हैं। जब साल 2015 के विधानसभा चुनाव में जदयू-राजद और कांग्रेस ने एक साथ गठबंधन में लड़े थे तब भी सीपीआई (एमएल) के तीन उम्मीदवार जीते थे उसमें एक महबूब आलम भी शामिल थे।

साल 2016 में महबूब आलम पर एक बैंक के ब्रांच मैनेजर को थप्पड़ मारने का आरोप लगा था। हालांकि महबूब आलम ने उस वक्त ‘पीटीआई’ से बातचीत में अपने ऊपर लगे आरोपों को गलत बताया था। हालांकि बाद में पुलिस ने कहा था कि घटना के सीसीटीवी फुटेज में थप्पड़ मारने की पुष्टि हुई थी। साल 2015 में महबूब आलम ने बीजेपी के उम्मीदवार बरूण कुमार झा को 20 हजार से ज्यादा वोटों से हराया था।

4 बार के विधायक के पास अपना मक्का मकान नहीं होने की खबर सामने आने के बाद ट्विटर पर भी लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। अनीष नाम के एक यूजर ने इसपर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा कि ‘महबूब आलम साहब के पास इमान की दौलत है…जो दुनिया की सभी दौलत से अफजल है…अल्लाह आपको सलामत रखे सर’

राजेश नाम के एक यूजर ने लिखा कि ‘विश्वास नहीं होता कि देश में ऐसे नेता अभी भी हैं। आजमगढ़ के आलम बदी आज़मी याद आते हैं जो अपने बेहद ही साधारण लाइफ स्टाइल के लिए जाने जाते थे। हमें अपने समय के ऐसे नेताओं पर गर्व है। इस तरह के नेता सिर्फ मुस्लिम समुदाय में ही नहीं बल्कि हिंदुओं में भी हैं…उन्हें सलाम है।’

एक अन्य यूजर ने लिखा कि ‘वाह…आशा है हम विधानसभा क्षेत्र में ऐसे राजनेताओं को देखेंगे..गरीब नहीं बल्कि चुने गए प्रतिनिधि लोगों के लिए काम करेंगे ना कि अपने लिए…भारत में 99 फीसदी राजनीति में पैसे कमाने के लिए आते हैं।’

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *