नेपाली मेयर ने इस भाग को बताया अपना, कहा- उत्तराखंड सिमा से सटा इलाका हमारा

नेपाल ने भारत के नई चाल को हवा देते हुए अब उत्तराखंड (Uttarakhand) से सटे एक नए इलाके पर अपना दावा ठोका है। नेपाल स्थित कंचनपुर जिले के भीमदत्त नगरपालिका के मेयर ने उत्तराखंड के के चंपावत जिले के सिमा से सटे इलाके को नेपाल का भाग बताया है। इसके पहले भी नेपाल के ओली सरकार एक विवादित नक्शा जारी कर भारत के कालापानी, लिपु लेख और लिंपियाधुरा को अपने हिस्से दिखाया गया है। अब नेपाली मेयर कहना है कि हमारी नगर पालिका के अंतर्गत उत्तराखंड के कुमाऊं इलाके के तहत आने वाले चंपावत (Champawat) जिले के जंगलों के कुछ भाग आता है। बक़ौल बिष्ट, बरसों से चंपावत जिला नेपाल का भाग रहा है। क्योंकि उसके जंगलों के लिए बनाई गई सामुदायिक वन समिति (Community Forest Committee) उनके नगर पालिका ऐलाके में आती है।

नेपाली मेयर ने यह भी दावा किया कि इस इलाके में नेपाल के द्वारा पौधे भी लगाए गए हैं। चंपावत जिले के सूत्रों के मुताबिक, नेपाली नगर पालिका ने बाड़ लगाने और वृक्षारोपण के लिए 45 लाख रुपये खर्च की गई है। जब उनसे पूछा गया कि आप नो मैंस लैंड इलाके में कैसे दावा कर सकते हैं तो नेपाली मेयर ने कहा कि इस मसले को हल करने के लिए भूमि का एक संयुक्त सर्वेक्षण किया जाना चाहिए। इससे तस्वीर साफ होगी।

भारत के साथ सीमा विवाद मसले पर बातचीत करने का राग अलाप रहा नेपाल सरकार (Nepal Goverment) अपने विवादित नक्शे को विश्व बिरादरी में भेजने की तैयारी कर रहा है। नेपाल के भूमि प्रबंधन मंत्रालय के मुताबिक, देश के नए नक्शे को अंग्रेजी में प्रकाशित करने के बाद इसे संयुक्त राष्ट्र (United Nations) और गूगल (Google) को भेजा जाएगा।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *