अब भ्रामक विज्ञापन करने पर सेलिब्रिटी पर कसेगा सिकंजा , दो साल जेल और 10 लाख जुर्माना

नए उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम के तहत अब भ्रामक विज्ञापन कर कंज्यूमर को गुमराह करना और खराब सामान बेचने वालों पर अब सिकंजा कस सकता है। घटिया सामान बेचने वालों को 6 महीने की कैद और 1 लाख जुर्माना भी देना पड़ेगा।

अगर घटिया वस्तु के कारण किसी भी ग्राहक को बड़ा नुकसान का सामना करना पड़ सकता है तो उस ग्राहक को 5 लाख रुपये मुआवजा देना होगा साथ ही 7 साल की जेल की हवा भी कहानी पड़ेगी। अगर दुर्भाग्यपूर्ण ग्राहक की मौत हो जाती है तो फिर 10 लाख का मुआवजा और साथ ही 7 साल की जेल या फिर आजीवन कारावास भी मुमकिन है। नए उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम के रडार में ई-कॉमर्स कंपनियां भी आएंगी।

उपभोक्ता संरक्षण कानून-1986 के तहत ग्राहक वहीँ अपना शिकायत दर्ज करवा सकता था जहाँ से वस्तु खरीदा गया हो लेकिन नए कानून में सब से बड़ी बात ये है की आप किसी भी उपभोक्ता अदालत में शिकायत दर्ज कर पाएंगे।

नए कानून के तहत घटिया वस्तुओं की बिक्री पर लगाम लगेगा साथ ही जो भी वस्तु को मार्किट में लाया जायेगा उसे उसकी सही कीमत वा जानकारी देनी पड़ेगी। किसी भी शिकायत पर बहुत जल्द कार्रवाई का प्रावधान होगा।

किसी भी वस्तु की जानकारी लोगों तक पहुंचाने के लिए उसका प्रचार – प्रसार किया जाता है इसके लिए TV Add का माध्यम सब से ज्यादा प्रचलित है। अगर किसी भी सेलिब्रिटी भ्रामक विज्ञापन करता है तो इसे 10 लाख तक जुर्माना भरना पड़ सकता है। सेलिब्रिटी की अपनी प्राथमिकता होगी की उस वस्तु की सही जानकारी वा दावे की जांच पड़ताल करले। घटिया सामान पर कंपनियों पर जुर्माना व मुआवजे का प्रावधान है। झूठी शिकायत करने पर 50000 रुपए जुर्माना लगेगा।

नए उपभोक्ता संरक्षण कानून में विवादों के त्वरित निपटारे के लिए केंद्रीय उपभोक्ता संरक्षण प्राधिकरण ( Central Consumer Protection Authority ) का प्रावधान है। ये सभी पर नजर रखेगा। CCPA की स्वतंत्र जांच एजेंसी भी होगी जिसकी जिम्मेदारी डायरेक्टर-जनरल के हाथ में होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *