भारत में गुजर गया कोरोना संक्रमण का पीक, सर्दियों में दूसरी लहर की आशंका नहीं कर सकते खारिज; अब तक 74.92 लाख संक्रमित

भारत में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के नए मामलों और ताजा मौतों में पिछले कुछ दिनों से कमी देखने को मिल रही है. इस बीच सरकार की ओर से नियुक्‍त वैज्ञानिकों की एक कमेटी ने रविवार को देश में कोविड-19 महामारी को लेकर प्रतिक्रिया दी. कमेटी का अनुमान है कि भारत में अब कोरोना वायरस संक्रमण का पीक गुजर चुका है. हालांकि इसके साथ ही कमेटी ने कहा कि देश में महामारी की दूसरी लहर की आशंका को खारिज नहीं किया जा सकता है और इस कारण फरवरी 2021 में भारत में कोरोना के सक्रिय केस 1.06 करोड़ से अधिक होने की आशंका है. साथ ही ठंड में ज्यादा सावधानी बरतने की हिदायत दी। 17 सितंबर को देश में सबसे ज्यादा एक्टिव केस 10.17 लाख थे, इसके बाद से इसमें लगातार गिरावट आ रही है और ये 7.83 लाख तक पहुंच चुके हैं।

नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल ने कहा कि पिछले तीन हफ्तों में देश के ज्यादातर राज्यों में कोरोना केस और महामारी से होने वाली मौतों में गिरावट आई है, लेकिन ठंड में कोरोना की दूसरी लहर आने से इनकार नहीं किया जा सकता। पॉल, देश में महामारी से निपटने के लिए बनाई गई कमेटी के चीफ हैं।

पॉल ने यह भी कहा कि भारत अभी भी दुनिया के अन्य देशों की तुलना में बेहतर स्थिति में है, लेकिन देश को अभी भी एक लंबा रास्ता तय करना है, क्योंकि 90% लोग अभी भी कोरोनोवायरस संक्रमण के लिए अतिसंवेदनशील हैं।

करीब 66 लाख मरीज ठीक हुए

देश में शनिवार को 61 हजार 893 केस आए, 72 हजार 583 मरीज ठीक हो गए। कुल केसों का आंकड़ा 74.92 लाख हो गया है। आज यह 75 लाख के पार हो जाएगा। अब तक 65.94 लाख मरीज ठीक हो चुके हैं, जबकि 1.14 लाख जान गंवा चुके हैं। शनिवार को 1031 संक्रमितों की मौत हुई। 2 अक्टूबर के बाद पहली बार एक दिन में मौत का आंकड़ा 1000 के पार गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *