संबित पात्रा के बयान पर बोले लोग- हमेशा नफरत ही फैलाओगे क्या? यूजर्स ने किया ट्रोल

लोगों ने संबित पात्रा को ट्रोल करते हुए पोस्ट किया कि अगर प्रधानमंत्री मोदी महात्मा गांधी का पालन करते तो वह गोडसे की पूजा करने वालों के साथ ना खड़े होते। कुछ यूजर्स ने संबित पात्रा के बोलने की अंदाज पर भी चुटकी ली। ऐसे यूजर्स ने लिखा- चाहे कितनी भी प्रयास कर लो लेकिन अटल बिहारी वाजपेयी नहीं बन पाओगे

BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने AIMIM चीफ असदुद्दीन औवेसी को मोहम्मद अली जिन्ना का अवतार बताया है। इसे लेकर सोशल मीडिया में कई लोग संबित पात्रा पर निशाना साध रहे हैं। दरअसल मंगलवार 7 July को संबित पात्रा ने तेलांगना BJP के स्टेज पर वर्चुअल रैली को संबोधित किया। वर्चुअल रैली में संबित पात्रा राम मंदिर, कश्मीर, कांग्रेस, नेहरू एवं जिन्ना के इर्द गिर्द ही बोलते रहे। अपनी स्पीच का वीडियो संबित पात्रा ने सोशल मीडिया में भी पोस्ट किया।

उन्होंने अपनी पोस्ट में कहा- प्रकार गांधीजी ने कहा था कि पूरे देश को एकजुट करना है। गरीब की आंखों के आंसू पोछने है। हर तबके की खुशहाली के लिए काम करना है। उसी प्रकार देश के PM नरेंद्र मोदी भी काम कर रहे हैं। महात्मा गांधी गुजरात से थे। संबित ने कहा कि, मोदी भी महात्मा गांधी के पदचिन्हों पर चल रहे हैं। जिस प्रकार गांधी के गुजरात में नरेंद्र मोदी का जन्म हुआ उसी प्रकार जिन्ना के सूबे मे औवेसी का जन्म हुआ।’

आगे संबित पात्रा ने कहा कि, ‘औवेसी जिन्ना का रूप है। इसे छोड़ना नहीं है। इसे लोकतांत्रिक तरीके से खत्म करना है।’इसके आगे संबित पात्रा ने औवेसी पर निशाना करते हुए कहा कि, ‘ये लोग राम मंदिर के खिलाफ थे। इनके वकील की इतनी दिलेरी कैसे हो गई कि उसने कोर्ट के अंदर ही राम मंदिर का चित्र फाड़ दिया।’

संबित पात्रा की इन बातों पर कई लोग अपना पक्ष देते दिखे। वहीं बहुत से यूजर्स ऐसे रहे जो संबित पात्रा को ट्रोल करने लगे। लोग लिखने लगे कि कभी तो GDP और रोजगार जेसे विवाद पर भी बात कर लिया करो। वहीं कुछ दूसरे यूजर्स ने लिखा कि संबित पात्रा देश में हमेशा नफरत फैलाने की ही बात क्यों करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *