राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर किया हमला, कहा- कोरोना से पहले ही अर्थव्यवस्था का बुरा हाल था

New Delhi: पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष और संसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने एक बार फिर कोरोना को लेकर मोदी सरकार पर हमला बोला है। राहुल ने इस बार अर्थव्यवस्था, काले धन, जीएसटी और कोरोना संकट को लेकर अपनी बात रखी है. उन्होंने कहा की कोरोना वायरस से पहले से ही संगठित और असंगठित अर्थव्यवस्था का बहुत खराब हालत में है। जब तक किसानों, मज़दूरों और लघु उद्योगों को पैसा सीधे नहीं दिया जाएगा, तब तक हालात में सुधार नहीं हो सकता.

इससे पहले राहुल गांधी ने गुरुवार को कहा था कि केंद्र सरकार ने देश में अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचने का काम किया है। इस लिए आने वाले दिनों में लोगों को बड़ी संख्या में बेरोजगारी का सामना करना पड़े गा। कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने पूर्व प्रधानमंत्री और अपने पिता राजीव गांधी की जयंती पर छत्तीसगढ़ में आयोजित कार्यक्रम को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित किया। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के जन्मदिन के अवसर पर बोलते हुए, राहुल गांधी ने कहा कि भारत में दो प्रकार की अर्थव्यवस्था है। एक संगठित अर्थव्यवस्था- उसमें बड़ी-बड़ी कंपनियां शामिल हैं. दूसरी है असंगठित अर्थव्यवस्था- उसमें हमारे किसान हैं, मजदूर हैं, छोटे दुकानदार हैं, और लाखों-करोड़ों गरीब लोग हैं। उन्होंने कहा, “हमने मोदी सरकार से छोटे दुकानदारों और छोटे उद्योगों को पैसा देने को कहा है।” अगर उन्हें पैसा नहीं दिया गया तो भारत की अर्थव्यवस्था नहीं बचेगी। लेकिन नरेंद्र मोदी ने उन्हें पैसा नहीं दी और 15-20 लोगों को लाखों-करोड़ों रुपये दिए।


राहुल गांधी ने कहा कि देश में 90% नौकरियां असंगठित अर्थव्यवस्था से आती हैं। इस व्यवस्था को नरेंद्र मोदी ने समाप्त कर दिया है। जब वैश्विक अर्थव्यवस्था का खात्मा होगा तो एक के बाद एक कंम्पनिआ ढह जाएगी और लघु उद्योग और किसान पूरी तरह से बर्बाद हो जाएंगे। यह देश युवाओं को रोजगार नहीं दे पाएगा। ऐसा देश में पहली बार होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *