साढ़े तीन साल में बनेगा राम मंदिर, बनने के बाद ऐसा दिखेगा, 100 करोड़ से अधिक होंगे लागत

लखनऊ : अयोध्या में राम मंदिर का भूमि पूजन 5 Aug को होगा। इससे पहले कई नामी संत, नेता व प्रसिद्ध हस्तियां का अयोध्या पहुंचना शुरू हो गया है। यहां राम की पौड़ी पर 5 Aug को डेढ़ – लाख दीपक जलाए जाएंगे। वहीं RSS प्रमुख मोहन भागवत लखनऊ से अयोध्या के लिए रवाना हो चुके हैं और नाथ संप्रदाय के उपाध्यक्ष बालकनाथ जी महाराज हरियाणा के रोहतक से रामनगरी पहुंचे हैं। वहीं कारसेवक पुरम में सतपाल महाराज व बालकनाथ महाराज रामंदिर भूमि पूजन पर चर्चा की। इन तमाम खबरों के बीच अयोध्या में बहुप्रतीक्षित प्रस्तावित राम मंदिर की तस्वीरें सामने आई हैं। मिली जानकारी के मुताबिक इस खूबसूरत राम मंदिर को साढ़े तीन साल में बनकर तैयार किया जाएगा। मंदिर प्रॉजेक्ट के अनुसार मंदिर को बनकर तैयार होने में तीन से साढ़े तीन साल का समय लगेगा। मंदिर तीन मंजिला होगा और इसका निर्माण वास्तु के अनुसार किया जाएगा।

161 फीट ऊंचा होगा मंदिर : मंदिर के शिखर की ऊंचाई अब बढ़ाकर 161 फुट कर दी गई है। वहीं पूरे मंदिर में 5 विशाल गुंबद होंगे। गौरतलब है कि राममंदिर के पुराने नक्शे में केवल 3 गुंबद प्रस्थापित थे, लेकिन अब इसमें दो गुंबद और बढ़ा दिए गए हैं। वहीं मंदिर का
भूमि आकार भी बढ़ा दिया गया है।

मंदिर की ऊंचाई में भी 33 फीट की बढ़ोतरी : पांच अगस्त से जिस राम मंदिर के बनाने का कार्य शुरू हो रहा है उसकी ऊंचाई में भी 33 फीट की बढ़ोतरी कर दी गई है। मंदिर के पुराने मॉडल के हिसाब से इसकी की लंबाई 268 फीट 5 इंच थी, जिसे अब बढ़ाकर 280-300 फीट कर दिया गया है। राम मंदिर के पांचों गुंबदों के नीचे के हिस्से में चार हिस्से होंगे। जिसमें सिंहद्वार, नृत्य मंडप, रंगमंडप बनेगें। यहां श्रद्धालुओं के बैठने, आराम करने और अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रम करने की प्रबंध होगी।

दिल्ली की कंपनी चमका रही पत्थर : मंदिर में लगने वाले पत्थरों को चमकाने का काम दिल्ली की कंपनी कर रही है। यहां मिट्टी जाँच की रिपोर्ट के आधार पर मंदिर के लिए नींव की खुदाई हो रही है। यह 20 से 25 फीट गहरी हो सकती है। प्लैटफॉर्म कितना ऊंचा होगा इस पर फैसला राम मंदिर ट्रस्ट करेगा। अभी 12 फीट से 14 फीट तक की ऊंचाई का सोच चल रहा है। राम मंदिर में कुल 318 स्तंभ होंगे और हर तल पर 106 काँलम होंगे।

100 करोड़ के लागत से बनेगा राम मंदिर : मंदिर के शिल्पकार चंद्रकांत सोमपुरा के अनुसार राम मंदिर को बनाने में 100 करोड़ रुपये की खर्च आएगी। यह लागत बढ़ भी सकता है, यदि इसकी निर्माण अवधि की समय सीमा तय की जाएगी तो अधिक संसाधन चाहिए होंगे। इससे बजट भी बढ़ेगा। उन्होंने बताया कि राम मंदिर का डिजाइन नागर स्टाइल का है। शिल्प शास्त्र की तमाम गणनाओँ के आंकलन करने के बाद राम मंदिर को बनाया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *