RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा- कोरोना वायरस पिछले 100 सालों में सबसे खराब स्वास्थ्य और आर्थिक संकट है

New Delhi: देश में कोरोना की कारन से अबतक 20 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। Covid -19 से देश की आर्थिक व्यवस्था को भी काफी नुकसान पहुंचाया है। इसी बी बीच भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर शक्तिकांत दास (Shaktikanta Das) ने सातवें SBI बैंकिंग एंड इकनॉमिक्स कॉन्क्लेव (Banking And Economics Conclave) में कहा कि कोरोना संक्रमण पिछले 100 सालों में सबसे खराब स्वास्थ्य (Health) और आर्थिक संकट (Economic Crisis) है। जिसने उत्पादन और नौकरियों पर निगेटिव प्रभाव पड़ा है। इसने दुनिया भर में मौजूदा व्यवस्था, मजदुरी और कैपिटल के मूवमेंट को कम किया है।

मीडिया खबर के मुताबिक, शक्तिकांत दास ने कहा की भारतीय रिजर्व बैंक ने हमारे आर्थिक तंत्र को संरक्षित रखने, मौजूदा संकट में अर्थव्यवस्था (Economic) को सहयोग देने के लिए कई कदम उठाए हैं। RBI के लिए विकास पहली प्राथमिकता है, वित्तीय स्थिरता भी उतनी ही महत्त्वपूर्ण (Important) है। दास ने कहा कि RBI ने उभरते जोखिमों की पहचान करने के लिए अपने ऑफसाइट निगरानी तंत्र को मजबूत किया है।

RBI गवर्नर का कहना है कि देश की अर्थव्यवस्था के सामान्य स्थिति की ओर लौटने के संकेत दिखने लगे हैं। देश में लॉकडाउन (Lockdown) के तहत लागू विभिन्न पाबंदियों में ढील दिए जाने के वजह से इस तरह की गतिविधियां बढ़ी हैं। लेकिन अभी अनिश्चित है कि आपूर्ति श्रृंखला पूरी तरह से कब शुरू होगी। उनका यह भी कहना है कि मांग की हालात सामान्य होने में कितना समय लगेगा यह कोरोना महामारी (Corona Epidemic) अपना प्रभाव कब छोडती है ये देखने वाली बात है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *