बैंक में नहीं लगी नौकरी, लड़के ने घर में ही खोल डाली SBI की नकली ब्रांच

मामला तमिलनाडु के कडलाेर जिले के पनरुत्ती से है जहां के 19 वर्षीय युवक ने कोरोना काल में देश की सबसे बड़ी सरकारी बैंक SBI की नकली ब्रांच खोल डाली। कडलाेर जिले के पनरुत्ती क़स्बा जिसकी कुल आबादी 80 हजार की है। इस कसबे में इस फर्जी शाखा को खोले 3 महीने हो चुके थे। तीन महीने के बाद इसके सच्चाई सब के सामने आई वो भी एक ग्राहक की शिकायत मिलने के बाद। पुलिस ने 19 वर्षीय युवक जिसने इस फर्जी शाखा को खड़ा किया और इसके तीन साथी को हिरासत में ले लिया है। हालांकि अब तक किसी ग्राहक के साथ धाेखाधड़ी जैसा मामला सामने नहीं आया है।

सब से बड़ी बात ये है की 19 वर्षीय युवक कमल के माता – पिता SBI के एक पूर्व कर्मी है। दरअसल पनरुत्ती में दो SBI की शाखाएं हैं। तीसरी फर्जी शाखा की जानकारी तब प्राप्त हुई जब ग्राहक ने बैंक मैनेजर से मिलने को गया और इस बात की जानकारी उसकी दी की अब तो तीन शाखाएं हो गयी है। ये सुनकर मैनेजर ने कहा ऐसी कोई बात नहीं है सिरद 2 ही है। तीसरे की जानकारी मिलते ही मैनेजर ने उस फर्जी शाखा को जाकर देखा तो वो हैरान रह गए।
उसने देखा की इस फर्जी बैंक शाखा और असली शाखा में कोई फर्क नहीं है। कैश डिपाॅजिट चालान, रबर स्टैंप, फाइल पर बैंक का नाम छपा हुआ था। वहां करेंसी काउंटर मशीन, डेस्कटाॅप कंप्यूटर, प्रिंटर और दर्जनाें फाइलें भी माैजूद थीं। ये सब देखने के बाद मैनेजर ने पुलिस को शिकायत की , उसके बाद कमल समेत तीन अन्य लोगों को भी हिरासत में ले लिया गया।

पुलिस के पूछताछ में पता चला की इस फर्जी शाखा को April 2020 में अपने घर में ही खोला गया था। हालांकि अपने घर के बाहर कोई साइनबोर्ड नहीं लगाया। कुछ साल पहले पिता की मौत हाे गई और मां रिटायर हाे गई। अनुकंपा नौकरी के लिए आवेदन किया। इसमें देरी हुई तो तो खुद का ब्रांच खोल ली। वह खुद का बैंक खाेलना चाहता था। हालांकि इसने किसी से धोखाधड़ी नहीं की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *