SP नेता लौटन राम निषाद ने दिया विवादित बयान, कहा- उनमें नहीं है मेरी आस्था, भगवान राम को बताया काल्पनिक और फिल्मी पात्र

अयोध्या:  समाजवादी पार्टी पिछड़ा वर्ग सेल के अध्यक्ष चौधरी लौटन राम निषाद ने विवादित बयान दिया है। दरअसल, ये बयान उस वक्त आया है जब अयोध्या में भगवान श्रीराम का मंदिर बनने वाला है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सपा नेता लौटन राम निषाद ने विवादित बयान देते हुए भगवान राम के अस्तित्व पर ही सवाल खड़ा कर दिया है। उन्होंने भगवान राम को फिल्म के पात्र जैसा काल्पनिक बताया है। साथ ही कहा है कि भगवान राम में मेरी आस्था नहीं है और संविधान भी मान चुका है कि प्रभु राम जैसा कोई नायक भारत में पैदा नहीं हुआ।

अयोध्या में राम मंदिर बने या कृष्ण मंदिर, उससे मुझे कोई लेना देना नहीं
निषाद ने कहा, ‘अयोध्या में राम मंदिर बने या कृष्ण मंदिर, उससे मुझे कोई लेना देना नहीं है. भगवन राम में मेरी आस्था नहीं है. वे काल्पनिक और फिल्मी पात्र हैं. मेरी आस्था उनमें है जिनकी वजह से मुझे सीधा लाभ मिला. बाबा साहब भीमराव आम्बेडकर, कर्पूरी ठाकुर, महात्मा ज्योतिबा फुले और छत्रपति साहू जी महराज ने पिछड़ा वर्ग को उनका अधिकार दिया. मेरी आस्था इन महापुरुषों में है.’

सपा नेता यहीं नहीं रुके। उन्होंने आगे कहा कि इन महापुरुषों की वजह से हमें नौकरियां मिलीं, पढ़ने-लिखने के अवसर मिले और कुर्सी पर बैठने का अधिकार मिला। बीजेपी पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि पिछड़ा वर्ग में भ्रम पैदा करके बंटवारा करवाया और इसका चुनाव में राजनीतिक लाभ उठाया। निषाद ने कहा कि बीजेपी ने अखिलेश सरकार के दौरान दुष्प्रचार किया कि नौकरियों में सारा लाभ यादव और मुस्लिम उठा रहे हैं। अब हम समझ गए हैं, पिछड़ा वर्ग एकजुट हो रहा है। उत्तर प्रदेश में अगली सरकार पिछड़ा वर्ग की बनेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *