शिक्षक नहीं हो सकते किसी पॉलिटिक पार्टी के मेंबर, पहली दफा टीचर्स के लिए बनी आचार संहिता

Patna : शिक्षा डिपार्टमेंट ने सूबे के शहरी एवं ग्रामीण इलाको के सेकेंडरी एवं हायर सेकेंडरी स्कूलों के टीचर्स की नियुक्त की प्रक्रिया एवं सेवा शर्त आदि गाइड तय कर दी है, नयी गाइड में कुछ नयी बातें जोड़ी गयी हैं, सबसे पहले, टीचर्स के लिए भी प्रदेश में पहली दफा आचरण संहिता बनायी गयी है, इसमें स्प्षट किया गया है कि टीचर्स किसी भी रूप में किसी भी दल के सदस्य या संगठन से संबंधित भी नहीं हो सकते हैं।

टीचर्स के लिए आचरण संहिता

इम्तेहान संचालन के लिए बिहार परीक्षा समिति के आदेशों का पालन करना

किसी भी राजनीतिक दल या राजनीति में भाग लेने वाले संगठन का शिक्षक सदस्य नहीं हो सकता है.

स्टूडेंट्स को मानसिक एवं शारीरिक रूप से प्रताड़ित न करना

पदोन्नति

50 % पद पदोन्नति से भरे जायेंगे, शेष की नियुक्ति सीधी भर्ती से होगी

प्रधानाध्यापक के सभी पद पदोन्नतिसे भरे जायेंगे

टीचर्स के सभी पद सीधी भर्ती से भरे जायेंगे

पुस्तकालयाध्यक्ष के सभी पद सीधी नियुक्ति से भरे जायेंगे

प्रशिक्षित माध्यमिक शिक्षक दस वर्ष और छह वर्ष की सेवा कर चुके प्रशिक्षित शिक्षक प्रधान अध्यापक बनाये जायेंगे.

कुछ महत्वपूर्ण राहतें

कृषि सब्जेक्ट के टीचर : सूबे के पांच हायर सेकेंडरी विद्यालों में इनके लिए पद सृजित हैं, इस पद पर नियुक्ति के लिए बीएड , बीएएड एवं बीएससीएड डिग्री की ज़रूरत नहीं होगी।

इसी प्रकार कंप्यूटर एवं म्यूजिक सब्जेक्ट के टीचर्स के लिए उक्त डिग्रियों की आवश्यकता नहीं होगी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *