भाजपा सांसद ने कहा- सत्ता पर हिंदुओं का नियंत्रण हो तभी बचेंगे मंदिर, सुरक्षित रहेगा धर्म

कल यानि 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम मंदिर कि भूमिपूजन कि। इस भूमिपूजन में पीएम मोदी संग संघ प्रमुख मोहन भगवत और सीएम योगी आदित्यनाथ भी शामिल थे। इसी के साथ कर्नाटक में बेंगलुरु दक्षिण से भाजपा सांसद तेजस्वी सूर्या द्वारा किये गए ट्वीट से विवाद खड़ा हो गया है। तेजस्वी सूर्या ने 5 अगस्त को भूमिपूजन के समय ट्वीट कर कहा कि सत्ता पर नियंत्रण धर्म के निर्वाह के लिए बहुत आवशयक है।


29 वर्षीय सांसद तेजस्वी सूर्या ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, ‘प्रिय हिंदुओं… सबसे महत्वपूर्ण सबक ये है कि हिंदुओं द्वारा राज्य की सत्ता पर नियंत्रण धर्म के निर्वाह के लिए बहुत जरूरी है। जब हमने सूबे को नियंत्रित नहीं किया तो हमने अपना मंदिर खो दिया। जब हम वापस आए हमने पुनर्निर्माण किया। वर्ष 2014 में 282 और 2019 में 303, पीएम मोदी ने इसे मुमकिन बनाया है।’

सांसद के इस ट्वीट पर कर्नाटक हाई कोर्ट के पूर्व सरकारी वकील बीटी वेंकटेश ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि ये बयान स्वागत योग्य कथन नहीं है और ये पूर्ण रूप से संविधान की भावना के खिलाफ है।

बेंगलुरु के कार्यकर्ता और वकील लिओ सल्दान्हा ने सांसद के इस बयान कि निंदा करते हुए कहा कि भारत का संविधान किसी की व्यक्तिगत व्याख्या के लिए नहीं बनाया गया है। लिओ सल्दान्हा ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उप राष्टपति वेंकैया नायडू से उन्हें निलंबति करने की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *