प्राइवेट टीचर्स से कोरोना महामारी ने छीना रोजगार, सब्जी बेचने को मजबूर हैं MSc, B.Ed. के टीचर

कोरोना वायरस महामारी के चलते रोजगार के साधनों पर सबसे अधिक प्रभाव पड़ा है। प्राइवेट स्कूल कॉलेज बंद होने के वजह से प्राइवेट टीचर भी बेरोजगार हो गए हैं। स्थिति ये हैं कि MSc, B.Ed, टीचर सब्जी बेचने को मजबूर है। शिक्षकों की इस हालत से रुबरु कराने के लिए शिवपुरी जिले के उमेश श्रीवास्तव (Umesh Srivastava) ने खुद सब्जी बेचकर सरकार का ध्यान इस तरफ दिलाने का कोशिश कर रहे हैं। शिक्षक उमेश रसायन (Chemistry) विज्ञान के टीचर हैं।

तालाबंदी के चलते प्राइवेट स्कूल, कॉलेज के बंद होने के वजह से कई टीचर सब्जी बेचने, मजदूरी करने, पंचर जोड़ने की हालात में आ गए हैं। इतना ही नहीं इन विषम हालात में परिवार का पेट भरने के लिए अपना शहर छोड़कर दूसरे शहरों में जाकर मजदूरी कर रहे हैं। इन्हीं निजी शिक्षक समुदाय की इस दशा को दिखाने के लिए शिक्षक उमेश श्रीवास्तव खुद रोड पर सब्जी बेच रहे हैं। शिक्षक उमेश श्रीवास्तव ने इसके माध्यम से देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) को यह पैगाम देना चाहते हैं कि वह इस शिक्षित तबके की दुर्दशा की ओर ध्यान दें और उन्हें किन्ही गाइडलाइन के तहत शिक्षण संस्थाएं खोलने की इजाजत दें। या उन्हें कुछ मुआवजा दिया जाए, जिससे प्राइवेट टीचर और उनका परिवार दो समय की रोटी खा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *