दफनाने को ले गए थे श्‍मशान, गड्ढा खोदते समय अचानक किलकारी गूंज उठी

Baghpat । जीवन में कई बार ऐसे वाकयात भी सामने आते हैं, जिन पर विश्वास करना कठिन हो जाता है। मरे बच्चे को परिवार दफनाने के लिए श्मशान घाट ले गए लेकिन गड्ढा खोदते समय अचानक उसकी किलकारी गूंज उठी। इसके बाद परिवार वाले ख़ुशी के मरे उछल पड़े मानो मातमी दरिया में खुशियों की हिलोरें उठ गईं। परिवार उसे लेकर घर आ गए लेकिन करीब डेढ़ घंटे बाद उसने दम तोड़ दिया। इसी के साथ एक बार फिर घर में मातम छा गया। हालांकि, डाक्टर इस मामले को चिकित्सा विज्ञान की नजर से ही देख रहे हैं।

हॉस्पिटल में जन्म हुआ था बच्‍चा

खट्टा प्रहलादपुर गांव के रहने वाले सोनू की पत्नी ने शुक्रवार को मेरठ के एक प्राइवेट हॉस्पिटल में बेटे को जन्म दिया। शाम को परिवार वाले बच्चा को लेकर घर आ गए। शनिवार सुबह बच्चा बीमार हो गया। परिवार वाले बच्चे को गांव में ही डॉक्टर के पास ले गए, जहां जांच के बाद उसे मृत्यु घोषित कर दिया गया। साथ गए रिश्तेदार रो पड़े। घर में मातम होगया गया।

हुआ चमत्‍कार

घर लौटने के बाद नवजात के लाश को दफनाने के लिए श्मशानघाट ले गए। दफनाने के लिए गड्ढा खोदा जा रहा था। इसी बीच अचानक बच्चा रोने लगा। बच्चे का रोना सुनकर दुखी परिवार खुशी से उछल पड़े। इसके बाद परिवार वाले बच्चे को घर ले गए। इसी बीच करीब डेढ़ घंटे बाद फिर हालात बदले। बच्चे की तबीयत बिगड़ी और उसने दम तोड़ दिया। ग्रामीणों का कहना है कि इस तरह की घटना पहली बार हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *