पंजाब में अब तक जहरीली शराब से 87 की मौत, 6 पुलिसकर्मी और 7 अधिकारी निलंबित

पंजाब में जहरीली शराब का कहर जारी है। पंजाब के तीन जिलों में जहरीली शराब पीने से मरने वाली की संख्या 87 पहुंच गई है। बीते गुरुवार रात से शुरू हुआ मौतों का मंजर रविवार सुबह तक जारी रहा। सब से ज्यादा मौतें तरनतारन जिले में हुई हैं। तरनतारन जिले में 64, अमृतसर में 12 और गुरदासपुर के बटाला में 11 लोगों की जान जहरीली शराब पीने के कारण गयी है। इस मामले में अब तक 7 अधिकारियों समेत 6 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है।

पंजाब पुलिस ने सूबे के 100 से अधिक स्थानों पर छापेमारी की है इस दौरान 17 लोगों को हिरासत में लिया गया है। मुख्यमंत्री के गृह जिला पटियाला में पुलिस ने चार व्यक्तियों को हिरासत में लिया है। अब तक इस मामले में पुलिस ने 25 लोगों को गिरफ्तार किया है। सीमावर्ती जिला फाजिल्का में छापा मारकर एक पशु बाड़े से भारी मात्रा में कच्ची शराब बरामद की है। आबकारी विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि पुलिस की छापेमारी में जब्त की गई सामग्री के रासायनिक विश्लेषण की रिपोर्ट अभी नहीं आई है, लेकिन सतही जांच से पता चला है कि यह सामग्री ऐसा खराब स्प्रिट है, जिसका इस्तेमाल पेंट या हार्डवेयर उद्योग में होता है।

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह पुलिस अधिकारियों से लगातार इस मामले को लेकर अपडेट ले रहे हैं। मुख्यमंत्री ने 6 पुलिसकर्मियों के साथ 7 आबकारी अधिकारियों को निलंबित करने का आदेश दिया। मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि इस मामले में किसी भी लोक सेवक या अन्य को संलिप्त पाया जाता है, तो उसे भी छोड़ा नहीं जायेगा। उन्होंने कहा कि जहरीली शराब के उत्पादन बिक्री को रोकने में पुलिस आबकारी विभाग की नाकामी शर्मनाक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *