WhatsApp Payment Service भारत में शुरू, UPI बेस्ड सिस्टम के बारे में जानिए सबकुछ

MUMBAI : 2018 में फेसबुक की कंपनी ने भारत में यूपीआई (UPI) आधारित पेमेंट सर्विस भारत में शुरू करने के लिए टेस्टिंग शुरू कर दी थी। इस सर्विस के तहत यूजर रुपये भेजने या पाने के लिए मैसेजिंग एप का इस्तेमाल कर सकेंगे। यह टेस्टिंग तकरीबन 10 लाख लोगों तक ही सीमित थी। कंपनी को नियामक से इजाजत का इंतजार था।

व्हाट्सऐप पेमेंट का प्रोसेस-

सबसे पहले व्हाट्सऐप ऑन करने के बाद ऊपर की तरह राईट साइड में तीन डॉट से पेमेंट ऑप्शन को चुनना है. उसके बाद Add Payment Mathod पर जाने पर आपको अलग-अलग बैंकों के ऑप्शन मिल जाएंगे. इसके बाद बैंक सलेक्ट कर अपने अकाउंट से जुड़ा मोबाइल नम्बर वेरीफाई कराना होगा. व्हाट्सऐप नम्बर और अकाउंट से लिंक नम्बर सेम होना चाहिए. इसके बाद वैरिफिकेशन पूरा हो जाएगा और पेमेंट सेटिंग से UPI बनाकर पिन जनरेट करना होगा.

पेमेंट करने का तरीका-

जिस व्यक्ति को आप पेमेंट करना चाहते हैं, उसका चैट ओपन करें और अटैचमेंट आइकन पर जाएं, वहां आपको पेमेंट का ऑप्शन नजर आएगा. उस अपर क्लिक कर जितना अमाउंट आप भेजना चाहते हैं, उसे डालकर UPI पिन डालें. पेमेंट होने पर आपको मैसेज से सूचना मिल जाएगी.

बता दें काफी समय से व्हाट्सऐप अपना पेमेंट सेटअप लाने का प्रयास कर रहा था. जो अब जाकर पूरा हो गया है. इससे एक चीज यह भी होगी कि बाजार में मौजूद अन्य पेमेंट एप्स को भी टक्कर मिलेगी. प्रतिस्पर्धा होने से इन एप्स पर मिलने वाले ऑफर का लाभ सीधा ग्राहकों को होता है. देखना होगा सभी ग्राहकों के लिए व्हाट्सऐप पेमेंट कब शुरू होगा.

दो करोड़ यूपीआई पंजीकृत यूजर्स से शुरू होगी सर्विस

बृहस्पतिवार को एनपीसीआई ने रीयल टाइम में दो लोगों के बीच या सामान खरीदने पर व्यापारी को पेमेंट के लिए व्हाट्सएप के जरिए पैसे के लेन-देन को मंजूरी दे दी। एनपीसीआई यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (यूपीआई) को चलाती है। व्हाट्सएप देश में चरणबद्ध तरीके से पेमेंट सर्विस शुरू करेगी। व्हाट्सएप यूपीआई पंजीकृत दो करोड़ यूजर्स के साथ यह पेमेंट सर्विस शुरू करेगी।

कंपनी अपने एक ब्लाॅग पोस्ट में कहा, ‘व्हाट्सएप पेमेंट सर्विस आज से शुरू हो गई है। भारत में लाेग इस मैसेजिंग एप के जरिए कहीं भी पैसे भेज सकेंगे। इस एप से पैसे भेजना न मैसेज भेजने जैसा ही सुरक्षित और आसान होगा। लोग अपने परिजनों को सुरक्षित रुपये भेज सकेंगे। इसके लिए उन्हें कैश ले जाने या बैंक जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।’

160 से ज्यादा बैंकों के सपोर्ट से यूपीआई पेमेंट

व्हाट्सएप ने एनपीसीआई के साथ साझेदारी में यूपीआई का इस्तेमाल करके पेमेंट फीचर डिजाइन किया है। भारत में रियल टाइम पेमेंट सिस्टम 160 से ज्यादा बैंकों के सपोर्ट से लेन-देन होगा। इस साल जून में व्हाट्सएप ने ब्राजील में ‘व्हाट्सएप पे’ लांच किया था। इस एप पर पेमेंट सर्विस सबसे पहले ब्राजील में शुरू किया गया था।

इन बैंकों के साथ साझेदारी

व्हाट्सऐप ने पेमेंट सर्विस के लिए ICICI Bank, HDFC Bank, Axis Bank, SBI और Jio Payments Bank के साथ साझेदारी की है. हालांकि अगर इनमें से किसी बैंक में आपका खाता नहीं है, तब भी आप व्हाट्सऐप पेमेंट का इस्तेमाल कर सकेंगे. गूगल पे और फोन पे की तरह व्हाट्सऐप पे में भी एक यूपीआई पिन की जरूरत होगी, ताकि आप सुरक्षित पेमेंट कर सकें.

भारत में 40 करोड़ यूजर्स करते हैं डिजिटल पेमेंट

40 करोड़ यूजर्स के साथ भारत व्हाट्सएप के लिए बड़ा बाजार है। यूजर्स पहले से ही पेटीएम, गूगल पे, वालमार्ट के फोनपे और अमेजन पे से रुपयों का लेन-देन करते हैं। व्हाट्सएप के आईफोन और एंड्रायड के लेटेस्ट वर्जन के साथ पेमेंट सर्विस शुरू होगी। कंपनी ने ब्लाॅग में कहा है कि वह भारत में डिजिटल पेमेंट अभियान को बढ़ाने के लिए उत्सुक है।

व्हाट्सएप पेमेंट के लिए बैंक खाता होना जरूरी

भारत में व्हाट्सएप के जरिए रुपया भेजने के लिए यूजर्स के पास बैंक खाता और डेबिट कार्ड होना जरूरी है। व्हाट्सएप भारत में पांच बैंकों आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी बैंक, एक्सिस बैंक, भारतीय स्टेट बैंक और जियो पेमेंट्स बैंक के साथ मिलकर काम कर रहा है। लोग व्हाट्सएप के जरिए किसी भी यूपीआई सपोर्टेड एप पर रुपया भेज सकेंगे।

इन्हें मिलेगी कड़ी टक्कर

WhatsApp Pay को मंजूरी मिलने से देश में गूगल पे (GooglePay), फोन पे (PhonePay), पेटीएम (PayTM) और जियो पे (JioPay) को कड़ी टक्कर मिलेगी. इसकी वजह यह है कि पेमेंट के लिए लोगों को अलग से ऐप इंस्टॉल करना नहीं होगा. कंपनी पिछले दो साल से भारत में WhatsApp Pay की टेस्टिंग कर रही है. कई हजार यूजर्स पहले से ही बीटा वर्जन पर WhatsApp Pay का इस्तेमाल कर रहे हैं. उम्मीद है कि कंपनी जल्द ही WhatsApp Pay को भारतीय यूजर्स के लिए जारी करेगी.

जकरबर्ग ने कहा, 10 भारतीय भाषाओं में होगी यह फ्री सर्विस

फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग ने कहा, ‘इसमें कोई फीस नहीं लगेगी… क्योंकि यह व्हाट्सएप है, आप जानते हैं यह सुरक्षित है और प्राइवेट भी। यूपीआई के साथ मिलकर भारत में कुछ सच्चा और खास बनाया गया है। भारती अर्थव्यवस्था की रीढ़ कहे जाने वाले छोटे और मझोले कारोबारियों के लिए यह एक असीमित मौका लेकर आया है। यह पेमेंट सर्विस 10 भारतीय भाषाओं में उपलब्ध होगा।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *