रेहड़ी पर चाय बेचने वाले ने 50 हज़ार का लोन मांगा, तो बैंक ने पाैने 51 करोड़ का पुराना बकाया चुकाने को कह दिया

Haryana: चायवाले पर अजीब आफ़त आ गई है. चाय ​बेचने वाले पर पाैने 51 करोड़ रुपये का बैंक लोन (Bank Loan) होने का दावा किया गया है, जबकि चायवाले का कहना है कि उसने कभी कोई लोन नहीं लिया है. ऐसे में 50 करोड़ रुपये का कर्ज होने का दावा हैरान करने वाला है. चाय बेचने वाले का नाम राजकुमार (Rajkumar) है. कोरोना प्रकोप कारन दुकानदारी लगभग ठप्प होने पर राजकुमार बैंक से लोन लेना चाहते थे. उन्होंने बैंक में लोन के लिए आवेदन भी किया, लेकिन आवेदन करने के बाद मालूम चला कि उन पर बैंक का पहले से ही पाैने 51 करोड़ रुपए का लोन बकाया है.

राजकुमार का कहना है कि उन्हें इतने बड़े अमाउंट का कर्जदार होने की बात तब पता चली, जब उन्होंने बैंक में लोन के लिए आवेदन किया. राजकुमार ने बताया- कोरोना महामारी के वजह से मेरी वित्तीय स्थिति गंभीर है. इसलिए मैंने 50,000 रुपये के लोन के लिए आवेदन किया था. लेकिन बैं​क ने यह कहते हुए अप्लाई ​कैंसिल कर दिया कि मुझ पर पहले से ही 50 करोड़, 76 लाख रुपये का लोन है. मुझे मालूम नहीं कि यह कैसे हुआ है, जबकि मैंने पहली बार 50 हज़ार के क़र्ज़ के लिए आवेदन किया है.

चाय वाले (राजकुमार ) ने जब बैंक लोन लेने के लिए पहुंचे, तो उनसे आधार कार्ड (Aadhaar Card) समेत सभी डॉक्यूमेंट (Document) मांगे गए. ये सारे डॉक्यूमेंट देखने के बाद बैंक अधिकारियों ने बताया कि उन पर पहले से ही भारी लोन बकाया है. पहले उन्हें वो बकाया चुकाना होगा, उसके बाद नए लोन के लिए आवेदन करें. राजकुमार को ये नहीं समझ आ रहा कि उनके खाते पर किसने और कब इतना बड़ा कर्ज़ा ले लिया, जबकि बैंक ने उन्हें लोन डिफॉल्टर (Loan Defaulter) भी घोषित कर दिया है. राजकुमार ने बताया कि उसने अपना सिबिल रिकॉर्ड निकलवाया तो वह हैरान रह गया. उसके रिकॉर्ड में 16 लोन दिखाए गए हैं. इनमें 50.50 करोड़ का 27 अप्रैल 2013 का कमर्शियल व्हीकल लोन दिखाया गया है. कई लोन तो हर महीने दिखाए गए हैं. इसके अलावा किसान क्रेडिट, ऑटो व ट्रैक्टर लोन दिखाया गया है। उसकी सिबिल रिपोर्ट में 57 करोड़ 75 लाख 20 हजार रुपये के लोन दिखाए गए हैं. अब जबकि बैंक ने राजकुमार को लोन डिफॉल्टर घोषित कर दिया है, तो इन्हें ये साबित करना होगा कि इन्होंने कोई लोन नहीं लिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *